ताज़ा ख़बरदेशवायरल न्‍यूज

दिवाली पर मुस्लिम दुकानदार को धमकाने का वीडियो वायरल! बजरंग दल कार्यकर्ता पर FIR हुई दर्ज

देश की राजधानी दिल्ली में एक मुस्लिम दुकानदार को धमकाने वाले वायरल वीडियो पर पुलिस ने संज्ञान लिया है. इस वायरल वीडियो में एक शख्स को दिवाली के दिन बिरयानी की दुकान खोलने पर कथित रूप से एक मुस्लिम दुकानदार को धमकाते हुए सुना जा सकता है. दिल्ली पुलिस ने सोशल मीडिया पर आए उस वीडियो के मामले में FIR दर्ज कर ली है. पुलिस ने बताया कि उन्होंने वीडियो पर स्वत: संज्ञान लेते हुए कार्रवाई की है. खुद को कथित रूप से बजरंग दल का सदस्य बता रहे युवक ने दुकानदार से जमकर गाली-गलौज कर उसकी दुकान बंद करवा दी.

दरअसल, ये मामला राजधानी दिल्ली के संत नगर इलाके का है. पुलिस के मुताबिक शुक्रवार को जैसे ही पुलिस अधिकारियों की संज्ञान में वीडियो आया तो उन्होंने इसकी जांच करवाई. दुकानदार की पहचान कर उससे पूछताछ के बाद पुलिस ने स्वत: संज्ञान लेते हुए धार्मिक भावनाओं को आहत करने का मामला दर्ज कर लिया है. बदसलूकी करने वाले युवक की तलाश की जा रही है. पुलिस अधिकारी ने बताया कि वीडियो में आरोपी अपना परिचय नरेश कुमार सूर्यवंशी बताता है, जो बजरंग दल का सदस्य है. पुलिस ने कहा कि वीडियो में आरोपी युवक को दुकान के कर्मचारियों को धमकी भरे अंदाज में यह कहते हुए सुना जा सकता है कि संत नगर एक हिंदू क्षेत्र है और उन्हें किसी भी त्योहार पर दुकान खोलने की इजाजत नहीं है.

वीडयों का पता लगते ही टीम बनाकर की गई गिरफ्तारी

इस मामले को तूल पकड़ता देख इसके बाद दुकान मालिक और उसके कर्मचारियों ने कुछ ही देर में दुकान बंद कर दी. उन्होंने बताया कि यह वीडियो गुरुवार रात लगभग 9 बजे रिकॉर्ड किया गया और बाद में इसे सोशल मीडिया पर डाल दिया गया. वहीं, पुलिस अधिकारियों ने वीडियो का पता चलते ही फौरन एक टीम बनाकर दुकानदार की पहचान की गई. वहां पहुंचकर आसपास के लोगों व दुकानदार से पूछताछ के बाद घटना की पुष्टि की गई.

पुलिस ने आरोपी युवक के खिलाफ दर्ज किया केस

बता दें कि इस मामले में सीनियर पुलिस अधिकारियों ने स्वत संज्ञान लेते हुए बुराड़ी थाने में भारतीय दंड संहिता (IPC) की धारा 295A (किसी भी वर्ग की धार्मिक भावनाओं को उसके धर्म या धार्मिक विश्वासों का अपमान करने के इरादे से जानबूझकर और दुर्भावनापूर्ण कार्य) के तहत मामला दर्ज किया गया था. पुलिस अधिकारी ने बताया कि आरोपी की पहचान करने और उसे पकड़ने के लिए CCTV कैमरों की मदद से जांच-पड़ताल की जा रही है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button