अयोध्याउत्तर प्रदेश

अफगानिस्तान से आया काबुल नदी का जल, सीएम योगी ने किया रामलला का अभिषेक

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज अयोध्या पहुंचे हैं. सीएम योगी ने कहा कि वे काबुल नदी का जल चढ़ाने के लिए अयोध्या आए हैं जो कि वहां कि एक बच्ची ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भेजा है. सीएम वहां भगवान रामलला और हनुमानगढ़ी के दर्शन करेंगे. सीएम योगी ने काबुल नदी के पानी में गंगा जल को मिलाकर रामलला का जलाभिषेक किया. साथ ही सीएम वहां 3 नवंबर को होने वाले दीपोत्सव की तैयारियों का जायजा भी लेंगे.

‘डर के साये में जी रही महिलाओं का दर्द है ये जल’

इस दौरान मुख्यमंत्री योगी ने कहा, यहां पर गंगाजल और काबुल नदी का जल एक साथ मिलाकर के पीएम मोदी के निर्देश पर काबुल से एक बालिक ने डर के साये में जी रही उन तमाम बालिकाओं और महिलाओं के दर्द को वहां से भेजा है, श्रीराम के पावन जन्मस्थली पर इस जल को अर्पित करने का सौभाग्य प्राप्त हुआ.

कुछ ऐसा रहेगा दिवाली कार्यक्रम

इस बार विदेशी रामलीला में श्रीलंका और नेपाल की रामलीला का प्रस्तुतीकरण होगा. वहीं जनकपुर, जम्मू कश्मीर, कर्नाटक, पश्चिम बंगाल, असम, दिल्ली और अयोध्या की रामलीला भी मंचन करेगी. दीपोत्सव की शुरुआत 1 नवंबर से होगी और 5 नवंबर को समाप्त होगा. 1 नवंबर को अनूप जलोटा का कार्यक्रम राम कथा पार्क में आयोजित होगा. उसी दिन जनकपुर नेपाल की रामलीला का मंचन होगा. वाटकर सिस्टर द्वारा रामायण प्रसंग का गायन होगा और सुश्री ईशा निशा रतन द्वारा कथक नृत्य की प्रस्तुति होगी.

2 नवंबर को हैरिटेज टुअर संगोष्ठी का आयोजन के साथ साथ जिले के 13 स्थानों पर बने मंचो पर सांस्क्रतिक कार्यक्रम का आयोजन, 2 नवम्बर को वाराणसी की श्रीराम आधारित नृत्य नाटिका का प्रस्तुतिकरण, विद्या कोल्युर मंगलौर की यक्ष गायन की प्रस्तुति, 3 नवंबर को मुख्य आयोजन जिसमें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपनी सरकार की कैबिनेट के साथ दीपों से मनाएंगे. राज्यपाल आनंदीबेन पटेल भी कार्यक्रम में मौजूद रहेंगी. इस दिन सुबह 10:00 बजे साकेत डिग्री कॉलेज से राम कथा पार्क तक 11 झांकियां निकाली जाएंगी.  दोपहर 3:00 बजे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ राम कथा पार्क में इन झांकियों का अवलोकन करेंगे. उसके बाद राम सीता का पुष्पक विमान हेलीकॉप्टर से राम कथा पार्क में आगमन होगा. राम कथा पार्क में राम जानकी की पूजन और प्रतीकात्मक रूप से राम राज्य अभिषेक मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सरकार द्वारा किया जाएगा. साथ ही कई परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास भी किया जाएगा.

उसके बाद शाम को सरयू आरती का आयोजन किया जाएगा. जिसमें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ राज्यपाल आनंदीबेन पटेल अन्य गणमान्य अतिथि शामिल होंगे. शाम को राम की पैड़ी पर 7 लाख 51 हजार दिए जलाकर नए विश्व कीर्तिमान स्थापित किया जाएगा. इसके लिए 9 लाख दिए राम की पैड़ी के 32 घाटों पर जलाए जाएंगे. लेजर शो का आयोजन होगा, आतिशबाजी शो का अयोजन होगा. फिर राम कथा पार्क में श्री राम भारतीय कला दिल्ली की रामलीला का मंचन होगा. ऐसे ही 4 नवंबर को असम की रामलीला का मंचन राम कथा पार्क में होगा और राम की पैड़ी में लेजर लाइट शो का आयोजन किया जाएगा. 5 नवंबर को जम्मू कश्मीर की रामलीला का मंचन राम कथा पार्क में किया जाएगा और लाइटिंग का आनंद श्रद्धालु व पर्यटक उठा सकेंगे.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button