उत्तर प्रदेशबाँदा

बांदा: शोहदों और मनचलों से परेशान लड़की ने छोड़ी पढ़ाई, स्कूल जाते वक्त बदमाश रोजाना करते थे छेड़खानी

उत्तर प्रदेश के बांदा में शोहदों और मनचलों से परेशान 10वीं की छात्रा के पढ़ाई छोड़ने का मामला सामने आया है. बीते कई दिनों से नाबालिग छात्रा को स्कूल आने जाने के दौरान दो युवक लगातार गंदी छींटाकशी और छेड़छाड़ कर परेशान कर रहे थे, जिसकी शिकायत उसने अपनी मां से की थी. मां जब इस मामले को लेकर थाने गई तो दूसरे पक्ष ने उसे वहां फिर से धमकाया, लेकिन कार्रवाई करने के जगह पुलिस ने कोई एक्शन नहीं लिया.

लड़की की मां ने पुलिस पर लापरवाही करने और दोषियों पर नरमी बरतने का आरोप लगाया है. उधर बुरे अंजाम से घबराई लड़की ने अपनी पढ़ाई पूरी तरह से छोड़ दी है. वहीं पुलिस का कहना है कि मामले में मुकदमा दर्ज कर घटना की जांच की जा रही है. परिजनों ने मुख्यमंत्री से मामले में न्याय की गुहार भी लगाई है.

घटना कमासिन थाना क्षेत्र के एक गांव की है. लड़की के परिजनों के मुताबिक “गांव के दो लड़के हमारी लड़की को स्कूल जाते समय रास्ते में आगे पीछे गाड़ियां घुमाकर छेड़ते हैं और उसे परेशान करते हैं. लड़की आधे रास्ते से स्कूल न जाकर वापस घर आ गई, तो हम उन लड़कों के घर शिकायत करने के लिए गए. हमारी लड़की जब पास की दुकान में गई तो उन्होंने लड़की को एक घंटे में बर्बाद करने की धमकी दी, जिससे परेशान होकर मुख्यमंत्री हेल्प लाइन समेत लोकल पुलिस पर शिकायत की है. अभी तक पुलिस ने उन लड़कों को गिरफ्तार नही किया है.”

लड़की के परिवार को दी देख लेने की धमकी

परिजनों ने आगे कहा, “पुलिस ने दोनों पक्षों को बुलाया, जिसके बाद लड़कों के परिजनों ने थाने के पास ही उन्हें देख लेने की धमकी दी. अब तो इनका मतलब है, लड़की का जीना मुश्किल है, स्कूल तो छूट गया. हमारी बच्ची इन्ही के कारण स्कूल नही जाती और स्कूल से टीचर का भी फोन भी आता है, क्यों लड़की का भविष्य बर्बाद कर रहे हैं, लेकिन क्या करें? हमारी लड़की डरी है और स्कूल जाने से डरती है. ये लोग हमारे रिश्तेदारों से फोन करके गलत बोलते हैं. इस मामले में सीओ बबेरू ने बताया कि एक लड़की को दो युवकों द्वारा फोन से गाली देने और धमकी से देने की बात की जानकारी मिली है. परिजनों के तहरीर के आधार पर मामला दर्ज कर लिया है. लड़कों के मोबाइल नंबर का सीडीआर चेक कर आगे की कार्यवाही की जा रही है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button