अयोध्याउत्तर प्रदेश

राम नगरी के दीपोत्सव की गूंज विदेशों तक: पर्यटन मंत्री डॉ. नीलकंठ तिवारी

अयोध्या। पांचवें दीपोत्सव पर अयोध्या के रामकथा पार्क में आयोजित कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को करीब 661 करोड़ रुपये की कुल 55 योजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया। इसके अलावा मुख्यमंत्री ने प्रयागराज के डॉ. जितेन्द्र कुमार सिंह संजय द्वारा लिखित पुस्तक तीर्थाेत्तमाअयोध्या का विमोचन किया। ब्रजेश सिंह की अयोध्या पर लिखित पुस्तक और पांचवें दीपोत्सव पर आधारित विशेष आवरण का भी विमोचन किया।

इस अवसर पर बोलते हुए कहा कि पर्यटन मंत्री डॉ. नीलकंठ तिवारी ने कहा कि 2017 में पहली बार पहली बार 51 हजार दीप प्रज्ज्वलित किया गया था। इसके बाद साल दर साल रिकाॅर्ड बनाता गया। आज अयोध्या में राम की पैड़ी पर नौ लाख दीप जलाए जाएंगे। मुख्यमंत्री योगी समेत मंत्रीमण्डल के अन्य सदस्य आए थे। तब अयोध्या की स्थिति बदहाल थी। सड़कें टूटी थीं, नालियां बजबजा रही थीं। आज राम नगरी का परिदृश्य बदला है। तब से बहुत विकास किया गया। अब भी विकास परियोजनाएं संचालित हैं।

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि 70 सालों तक देश में राज करने वाले लोग अयोध्या को उपेक्षित कर रखा गया। देश में लोग टीका लगाने से डरते थे। कानून राज नहीं रह गया था। लोग ऋषि- मुनियों को अपमानित करते थे। आज भारत की संस्कृति और सभ्यता को दुनिया में पहुंचाने का काम प्रधानमंत्री मोदी कर रहे हैं। गरीब परिवार में जन्म लेने वाले प्रधानमंत्री देश की सेवा में लगे हैं।

उसी प्रकार अपने पिता के निधन पर भी घर नहीं जाने वाले प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हैं। ऐसे मुख्यमंत्री कहां मिलेंगे। निश्चित तौर पर ऐसे मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश में ही मिलेंगे। 2017 से पहले उप्र में कांवड़ यात्रा नहीं निकल सकती थी। आज कांवड़ यात्रा पर हेलीकाप्टर से पुष्प वर्षा की जा रही है। एक वर्ग को खुश करने के लिए प्रदेश की बहुसंख्यक समाज को अपमानित करने का काम किया जाता था। आज किसी में ऐसी हिम्मत नहीं है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button