उत्तर प्रदेशगोरखपुरसत्ता-सियासत

‘दूरबीन से नहीं दिखते अपराधी’, प्रियंका ने कहा- चश्मा लगाकर देखें, पास में ही थे टेनी

उत्‍तर प्रदेश विधानसभा के चुनावी समर में नेताओं के बीच एक-दूसरे पर जुबानी तीर छोड़ने की शुरुआत हो चुकी है। ताजा वार कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी की ओर से हुआ है। रविवार को गोरखपुर में प्रतिज्ञा रैली को सम्‍बोधित करते हुए प्रियंका ने अमित शाह पर सीधा हमला बोला। प्रियंका ने कहा कि यूपी में अपराधियों को ढंढने के लिए दूरबीन की जरूरत नहीं, चश्‍मे से ही मंच पर खड़े गृह राज्‍य मंत्री अजय सिंह टेनी नज़र आ सकते थे।

दरअसल, 29 अक्‍टूबर को भाजपा के मेगा सदस्‍यता अभियान का उद्घाटन करने लखनऊ आए अमित शाह ने योगी सरकार की तारीफ करते हुए कहा था कि अब उत्‍तर प्रदेश में दूरबीन से देखने पर भी अपराधी-माफिया नहीं दिखते। प्रियंका ने कहा कि लखीमपुर खीरी हिंसा में किसानों को कुचले जाने का उल्‍लेख करते हुए शाह के मंच पर टेनी की मौजूदगी को मुद्दा बना और योगी सरकार को हर मोर्चे पर फेल बताया। उन्‍होंने सपा और बसपा भी जमकर हमले किए। सपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अखिलेश यादव के ‘भाजपा और कांग्रेस एक जैसी हैं…’ वाले बयान का जवाब देते हुए उन्‍होंने कहा कि मैं मर जाऊंगी लेकिन भाजपा के साथ मिलावट नहीं करूंगी।

गोरखपुर के चंपा देवी पार्क में आयोजित प्रतिज्ञा रैली के मंच से प्रियंका ने सपा-बसपा को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि उत्‍तर प्रदेश की चीनी मिलों को सपा, बसपा की सरकारों ने बंद कराया। कांग्रेस ही संकट में आपके साथ खड़ी है। पीएम की इटली यात्रा पर सवाल उठाते हुए प्रियंका ने कहा कि वे आठ हजार करोड़ की जहाज से इटली जाते हैं, यहां जमीन पर तल्ख सच्चाई दिखती है।

भाषण की शुरुआत भोजपुरी से की 

प्रियंका ने अपने भाषण की शुरुआत भोजपुरी से की। भोजपुरी में लोगों का हाल-चाल पूछा-‘का हाल-चाल बा। आप सब ठीक बानी न।’ उन्‍होंने कहा कि चुनाव में नेता आपके सामने आते हैं। सत्‍ता वाला नेता सपने दिखा रहा है। विपक्ष कमियां बताता है। प्रियंका ने कहा कि पिछले दो वर्षों में उत्‍तर प्रदेश में वह काफी घूमी हैं। देश के बारे में सच्चाई जानी है। यह आस्थाओं का देश है। लोग धर्म, धरती के साथ नेताओं में भी आस्था रखते हैं। विज्ञापन में विकास दिखाया जाता है तो हम समझते हैं कि कहीं न कहीं विकास आया होगा। पीएम को आठ हजार करोड़ के जहाज से इटली जाते हुए देखते हैं तो लगता है कि देश की शोभा बढ़ा रहे हैं। सच्चाई जनता जी रही है। आसमान की तल्ख सच्चाई यहां दिखती है।

निषाद वोटरों को लुभाने की कोशिश

प्रियंका ने पूर्वांचल की कई सीटों पर प्रभावी निषाद वोटों को लुभाने की पुरजोर कोशिश की। उन्‍होंने कहा कि प्रयागराज में निषादों के गांव गई थी। वहां नाव को जलाकर राख बना दिया गया। नाव निषादों की मां और जीविका होती है। नदी पर निषादों का अधिकार है। इस सरकार ने उनका अधिकार छीना है। उन्हें पीटा और प्रताड़ित किया है। प्रियंका ने अपने भाषण के अंत में कहा कि मैं इंदिरा गांधी के बल पर खड़ी हूं। उन्‍होंने कहा कि कांग्रेस यदि सत्‍ता में आई तो मछली पालन को कृषि का दर्जा दिया जाएगा। मछुआरों को किसानों जैसी सहूलियतें मिलेंगी। मछली पालन के साथ-साथ बालू खनन और नदी पर भी मछुआरों का अधिकार होगा। कांग्रेस सत्‍ता में आई तो गुरु मत्येन्द्रनाथ विश्वविद्यालय की स्‍थापना की जाएगी।

सीएम योगी पर वार 

प्रियंका ने आरोप लगाया कि उत्‍तर प्रदेश में योगी सरकार, गुरु गोरखनाथ के विपरीत चल रही है। गोरखवाणी पढ़ते हुए उन्‍होंने कहा कि सरकार जनता पर आक्रमण कर रही है। उन्‍होंने कहा कि लखीमपुर में किसानों की गाड़ी से कुचलकर हत्‍या कर दी गई लेकिन उनकी सुनवाई नहीं हुई। वहां विज्ञापनों की असलियत दिखाई दी। किसान प्रताड़ित और समस्याओं से जूझ रहा है। सरकार मदद को तैयार नहीं है। गरीबों, ब्राह्मणों सबका शोषण हो रहा है। आगरा में थाने में रखकर 30 परिवारों को मारा गया। एक की हत्या पुलिस ने कर दी। एक महीने के बच्चे के लिए कोई सहायता नहीं आई। संकट में सरकार अपना चेहरा दूसरी तरफ कर लेती है।

खाद, खेती और फसल का उठाया सवाल

कांग्रेस महासचिव ने आरोप लगाया कि यूपी में किसानों को धान का मूल्य नहीं मिला। खाद, खेती और फसल पूंजीपतियों के हाथ दे दी गई। ललितपुर में खाद के लिए दो लोगों ने आत्महत्या कर ली। एक किसान ने लाइन में भूख-प्यास से दम तोड़ दिया। वे कर्ज में डूबे हुए थे। सिलेंडर और सरकारी मदद भी नहीं थी। ऐसे दृश्य जगह-जगह दिखाई दे रहे हैं। योगी सरकार ने साढ़े चार साल में गन्ने की कीमत नहीं बढ़ाया। आज 1000 रुपये में सिलेंडर, 110 के पेट्रोल मिल रहा है। प्रियंका ने लोगों से पूछा इतनी महंगाई में कैसे गुजारा करते हैं आप? गोरखपुर में बुलडोजर लगा रखा है। जबसे देश में भाजपा की सरकार आई है परिवारों की आय घाटी है। किसान प्रतिदिन 27 रुपये और सरकार के पूंजीपति मित्र खरबों कमाते हैं। अमीरों के लोन माफ हो रहे हैं गरीबों के नहीं। सड़क, हवाई जहाज सब कुछ सरकार बेच रही है। 70 साल की मेहनत सात साल में गवां दी है। उत्तर प्रदेश में पांच करोड़ बेरोजगार हैं। हर दिन तीन युवा आत्महत्या कर रहे हैं। 10 लाख खाली पद हैं। प्रियंका गांधी ने कहा कि गोरखपुर यूनिवर्सिटी की नौकरियों में भ्रष्टाचार हुआ। सिद्धार्थनगर में मंत्री के भाई ने गरीब बनकर नौकरी हथिया ली। गरीबों के लिए निर्धारित पद वास्‍तविक गरीब को नहीं मिला।

महिलाओं को लुभाने की कोशिश 

प्रियंका ने गोरखपुर की प्रतिज्ञा रैली में भी महिलाओं को लुभाने की भरपूर कोशिश की। उन्‍होंने पार्टी द्वारा 40 प्रतिशत टिकट महिलाओं को दिए जाने के ऐलान का उल्‍लेख करते हुए कहा कि इससे राजनीति में उनका दखल बढ़ेगा। प्रियंका ने कहा कि गोरखपुर में कानपुर के व्‍यापारी की हत्‍या हुई। जनता के सामने ऐसे संकट आते हैं तो सरकार सुनवाई नहीं करती। लोगों की आस्‍था हिल जाती है। उन्‍होंने कहा कि उत्‍तर प्रदेश में महिलाओं को काफी संघर्ष करना पड़ रहा है। उनके ऊपर अत्‍याचार हुए हैं। उन्‍नाव में लड़की के साथ अपराध हुआ। हाथरस में गैंगरेप पीड़िता की हत्‍या के बाद परिवारीजनों को उसका शव तक नहीं देखने दिया गया। गोरखपुर में लड़की ने अपने पिता की पिटाई का वीडियो बनाया तो उसे गोली मार दी गई। यूनिवर्सिटी की छात्रा का परिवार दर-दर भटक रहा है। ऐसी महिलाओं को मैं अपनी शक्ति दूंगी। उन्‍होंने कहा कि महिलाओं में करूणा होती है। उनमें संवेदना और शक्ति होती है। वे राजनीति में आएंगी तो निश्‍चित बदलाव आएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button