उत्तर प्रदेश

शाहजहांपुर: शहीद सारज सिंह पंचतत्व में विलीन, गगनभेदी नारों से गूंज उठा अख्तियारपुर धौकल गांव, देखें तस्वीरें

शाहजहांपुर। कश्मीर के पुंछ इलाके के स्वर्णकोट में 11 अक्तूबर को आतंकियों के हमले में शहीद हुए सैनिक सारज सिंह के पार्थिव शरीर का अंतिम संस्कार गुरुवार को बंडा के अख्तियारपुर धौकल गांव में कर दिया गया। पिता नक्षत्र सिंह ने बेटे सारज सिंह के शव को मुखाग्नि दी। इस दौरान प्रदेश सरकार की ओर से प्रतिनिधि के तौर पर वित्तमंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने सारज सिंह को श्रद्धांजलि अर्पित की।

शाहजहांपुर के ओसीएफ अस्पताल से गुरुवार सुबह सात बजे शहीद सारज सिंह के शव को बंडा के अख्तियारपुर धौकल गांव ले जाया गया। वहां हजारों लोग सारज सिंह को अंतिम विदाई देने के लिए उमड़े। इस दौरान अंतिम दर्शन के लिए सारज सिंह का शव रखा गया तो उनकी पत्नी रजविंदर कौर बेहाल हो गईं। वह पति सारज सिंह के शव से लिपट कर रोईं। मां परमजीत कौर का दुख भी देखा नहीं जा रहा था। वह हार्ट पेशेंट हैं, इसके बाद भी खुद का दुख दबाकर उन्होंने बहू रजविंदर कौर को भी संभाला।

वहीं, पिता नक्षत्र सिंह, भाई गुरप्रीत सिंह, सुखवीर सिंह, भतीजी नवजोत कौर व परिवार के अन्य सदस्यों की आंखों से सारज सिंह का शव देखने के बाद आंसुओं की धारा बह निकली। इस दौरान लगातार लोग सारज सिंह अमर रहें, भारत माता की जय, वंदे मातरम के गगनभेदी नारे लगाते रहे।

वित्तमंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने सारज सिंह को अंतिम विदाई दी। पुष्पचक्र चढ़ाकर उन्होंने श्रद्धांजलि दी। इसके बाद उन्होंने परिवार के सदस्यों को सांत्वना दी। इस दौरान सेना के जवानों ने सारज सिंह को सैनिक सम्मान दिया। बाद में शव को अंतेष्टि स्थल पर ले जाया गया, जहां पिता नक्षत्र सिंह ने बेटे सारज सिंह के शव को मुखाग्नि दी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button