उत्तर प्रदेशलखीमपुर खीरी

लखीमपुर में केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के घर की सुरक्षा बढ़ाई गई, 12 अक्टूबर को मृतक किसानों की अरदास

उत्तर प्रदेश लखीमपुर खीरी जिले में पिछले रविवार को हुई हिंसा के बाद किसानों के संभावित विरोध को देखते हुए केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के आवास की सुरक्षा को बढ़ा दिया गया है. उनके संसदीय कार्यालय और आवास के पास रिजर्व पुलिस फोर्स (RAF) की दो कंपनियों को तैनात किया गया है. हिंसा में मारे गए किसानों की 12 अक्टूबर को अंतिम अरदास होनी है और इसमें हजारों की संख्या में किसान हिस्सा ले सकते हैं. लिहाजा उनकी सुरक्षा बढ़ा दी गई है.

हालांकि इससे पहले हिंसा के बाद किसानों के संभावित विरोध के मद्देनजर दिल्ली में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के आवास पर सुरक्षा बढ़ा दी गई थी. वहीं कल उनके बेटे आशीष मिश्रा को गिरफ्तार कर लिया है और पुलिस उनसे पूछताछ कर रही है. लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष पर किसानों को कार से कुचलने का आरोप है. वहीं इस घटना के बाद राज्य का सियासी पारा बढ़ा हुआ है. फिलहाल बेटे की गिरफ्तारी के बाद गृह राज्य मंन्त्री के आवास पर सन्नाटा पसरा हुआ है और अजय मिश्र अपने घर पर ही मौजूद हैं. वहां अभी कोई हलचल नहीं देखी जा रही है और उनके समर्थक भी खामोश बैठे हुए हैं. जबकि कल उनके समर्थकों ने आशीष की गिरफ्तारी पर नाराजगी जताई थी और नारेबाजी की थी.

12 अक्टूबर को मारे गए किसानों का होना है अंतिम अरदास

लखीमपुर खीरी हिंसा के बाद से किसानों में भारी रोष है और उत्तर प्रदेश ही नहीं बल्कि देश के कई हिस्सों में इसके विरोध में प्रदर्शन हो रहे हैं. वहीं इस घटना में मारे गए किसानों की अंतिम अरदास 12 अक्टूबर को लखीमपुर में होनी है. जिसको लेकर प्रशासन सतर्क है. क्योंकि इस अरदास में हजारों की संख्या में किसान और सियासी दल के नेता शामिल हो सकते हैं.

अजय मिश्रा ने बेटे को बताया निर्दोष

लखीमपुर खीरी में अपने आवास पर पहुंचे गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी बेटे आशीष पर लगे आरोपों को निराधार बताया और कहा कि वह मौके पर मौजूद नहीं थे. वहीं कल आशीष भी पुलिस के सामने सभी सबूतों को लेकर पहुंचे थे.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button