उत्तर प्रदेशवाराणसी

ओमप्रकाश राजभर अब राजनीतिक दलाल बन गए: अनिल राजभर

वाराणसी। उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री अनिल राजभर ने बुधवार को सुभासपा अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव पर जमकर निशाना साधा। अनिल राजभर ने सुभासपा अध्यक्ष पर तंज कसते हुए आरोप लगाया कि ओमप्रकाश राजभर अब सपा के राजनीतिक दलाल बन गए हैं। ऐसे लोग राजभर समाज का भला नहीं कर सकते,अपनी राजनीतिक रोटी सेंकने के लिए किसी हद तक जा सकते हैं। कैबिनेट मंत्री स्थानीय सर्किट हाउस में पत्रकारों से बातचीत के दौरान सुभासपा अध्यक्ष पर हमलावर तेवर में दिखे।

उन्होंने प्रदेश के बांदा जेल में बंद माफिया विधायक मुख्तार अंसारी से ओपी राजभर की मुलाकात और मऊ में पिछले दिनों हुई रैली पर सवाल उठाते हुए कहा कि रैली मुख्तार अंसारी के संसाधनों पर हुई। इसमें भी ओमप्रकाश राजभर ने बड़ी भूमिका निभाई। ओम प्रकाश राजभर का नया नाम असलम राजभर रख कैबिनेट मंत्री ने चुटकी लेते हुए कहा कि बांदा जेल इस लिए गये थे कि मुख्तार अंसारी को हिसाब-किताब दे सके।

सुभासपा अध्यक्ष सिर्फ अपना और अपने परिवार का विकास कर रहे हैं। ओमप्रकाश उर्फ़ असलम राजभर मुख्तार अंसारी और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की राजनीतिक दलाली कर रहे हैं। अनिल राजभर ने आरोप लगाते हुए कहा कि हर बार की तरह इस बार भी मुख़्तार अंसारी विधानसभा चुनाव में जीत जाएं उसका ताना-बाना सपा बुन रही है। इसमें ओमप्रकाश राजभर को आगे कर मुख्तार को विधायक बनाने की साजिश की जा रही है। इस तरह की बातों को समाज को जानना चाहिए।

कैबिनेट मंत्री ने बताया कि ओमप्रकाश राजभर के कारनामों का खुलाशा मऊ में पर्दाफाश महारैली में देंगे। अनिल राजभर ने बताया कि मऊ में महारैली नवंबर माह के अंतिम सप्ताह या दिसंबर के प्रथम सप्ताह में आयोजित की जाएगी। इसके प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी शामिल होंगे। लगातार बढ़ रहे महंगाई से जुड़े सवाल पर कैबिनेट मंत्री ने कहा कि पहले की सरकारों में भी कीमतें बढ़ी है। केन्द्र सरकार इस पर विचार कर रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button