उत्तर प्रदेशलखनऊ

‘मुसलमान अपने बच्चों का जल्दी से जल्दी निकाह करें’, जानें मौलाना खालिद रशीद फिरंगी महली ने क्यों कही ये बात

उत्तर प्रदेश में ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (AIMPLB) की बेहद अहम बैठक आयोजित की गई है. कोरोना काल ये बाद यह पहली फिजिकल मीटिंग है जो 21 और 22 नवंबर को कानपुर में आयोजित की जाएगी. इस बैठक में नए अध्यक्ष और नए जनरल सेक्रेटरी का चुनाव हो सकता है. इसी के साथ बैठक में मुस्लिम समाज के लिए पैगाम भी जारी किया जाएगा.

वहीं इस बैठक से पहले आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के नेशनल एग्जीक्यूटिव के सदस्य मौलाना खालिद राशीद फरंगी महली ने कहा है कि मुस्लिमों को अपने बच्चों का जल्दी निकाह करना चाहिए. उन्होंने कहा, “मुसलमान अपने बच्चों का जल्दी से जल्दी निकाह करें. ऐसा न करने पर बच्चों के बिगड़ने का खतरा है. पूरे देश में जुमे पर मस्जिदों के जरिए और साथ ही सोशल मीडिया के जरिए ये पैगाम फैलाया जाएगा.”

AIMPLB ने दहेज के खिलाफ की थी अपील

सितंबर में आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की बैठक आयोजित की गई थी. इस बैठक में कई पदाधिकारी शामिल हुए थे. जूम एप के जरिए यह मीटिंग आयोजित की गई थी. मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के अध्यक्ष मौलाना राबे हसनी नदवी ने इस दौरान अपील की थी शादियों में दहेज की जगह लड़कियों को प्रॉपर्टी में उसका हक दिया जाए. कहा गया था मुस्लिमों को इस तरह के रीति रिवाज से बचना चाहिए. वहीं इस बैठक में सैयद सआदतुल्लाह हुसैनी ने कहा कि शादियां सुविधाजनक हो इसे लेकर समाज को दबाव बनाना चाहिए और महिला शिक्षित हों इसके लिए भी एक समिति बननी चाहिए.

राजनीति से नहीं है कोई लेना-देना

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव करीब हैं. इससे पहले बैठक को लेकर तरह-तरह के कयास लग रहे हैं. लेकिन इससे पहले बोर्ड के अध्यक्ष कह चुके हैं कि AIMPLB किसी भी सियासी पार्टी को समर्थन की अपील नहीं करता है. जुलाई में अपने एक बयान में बोर्ड के अध्यक्ष मौलाना सैयद मोहम्मद राबे हसनी नदवी ने कहा था कि AIMPLB का किसी भी राजनीतिक पार्टी से कोई लेना-देना नहीं है और न ही बोर्ड किसी भी पार्टी को समर्थन देने की अपील करता है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button