अयोध्याउत्तर प्रदेश

निषादों को मिले आरक्षण तभी होगा बीजेपी से गठबंधन: मुकेश सहनी

अयोध्या। विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी) ने परशुराम वर्मा स्मारक महिला महाविद्यालय के मैदान पर निषाद आरक्षण अधिकार जनचेतना रैली का आयोजन किया। बतौर मुख्य अतिथि वीआईपी संस्थापक व बिहार सरकार में पशुपालन व मत्स्य संसाधन मंत्री मुकेश सहनी ने ऐलान कर दिया कि निषाद जातियों को जब तक अनुसूचित जाति में शामिल नहीं किया जाता तब तक बीजेपी से गठबंधन नहीं होगा।

मुकेश साहनी ने कहा कि कोई राम को मानता है कोई रहीम को, हम फूलन देवी को मानते हैं। उन्होंने कहा कि 8 लाख आय सीमा वाले सामान्य वर्ग को 48 घंटे में ईडब्ल्यूएस के नाम से संविधान संशोधन कर 10 प्रतिशत कोटा दे दिया गया तो निषाद जातियों को अनुसूचित जाति का आरक्षण देने में देरी क्यों की जा रही है। जब चायवाला प्रतिनिधित्व कर सकता है तो नाव वाला क्यों नहीं।

उन्होंने कहा कि शीतकालीन सत्र में बिल लाकर भाजपा सरकार ने निषाद मछुआ समुदाय की जातियों को अनुसूचित जाति का आरक्षण नहीं दिया तो मिशन 2022 में वीआईपी भाजपा से गठबंधन नहीं करेगी और न समर्थन देगी। वीआईपी ने 165 सीटों को चिन्हित किया है। जहां निषाद वोट निर्णायक हैं, वहां सामाजिक जातिगत समीकरण को साधकर अपने बलबूते पर चुनाव लड़ाएंगे। प्रदेश अध्यक्ष चौधरी लौटनराम निषाद ने कहा कि कांग्रेस, सपा, बसपा, भाजपा आदि दलों ने अपने चुनाव घोषणा पत्र में निषाद जातियों को अनुसूचित जाति का दर्जा देने का वादा किया था, लेकिन अभी तक यह झूठा छलावा साबित हुआ है।

अध्यक्षता जिलाध्यक्ष जशपाल निषाद व संचालन युवा मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष संतोष सहनी ने किया। राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राजाराम बिन्द, प्रदेश उपाध्यक्ष संतोष सोनकर, डॉ. समरजीत कश्यप, प्रदेश महासचिव अनुराग यादव अन्नू,सूर्यपाल निषाद, प्रदेश सचिव मनोज यादव, कान्ति देवी मझवार, मीरा देवी निषाद,सौरभ देव मिश्रा,लक्ष्मी निषाद आदि ने सम्बोधित किया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button