उत्तर प्रदेशलखनऊ

महापौर ने भू-विसर्जन को मंगलमान को दी लक्ष्मी-गणेश की मूर्ति

महापौर संयुक्ता भाटिया ने दीपावली के पश्चात वर्ष भर पूजी गई लक्ष्मी-गणेश की मूर्तियों को ससम्मान विसर्जित करने के लिए मंगलमान की टीम को आलमबाग के सिंगार नगर स्थित अपने आवास पर बुलाकर लक्ष्मी- गणेश की मूर्तियां सौंपी।

महापौर ने बताया कि अक्सर दीपवाली के पश्चात विभिन्न धार्मिक स्थलों, पेड़ के नीचे, डिवाइडर, चौराहों पर और नदी किनारे पुरानी मूर्तियों को लोग लावारिस छोड़ जाते है, जो बाद में खंडित होकर कूड़े के ढ़ेर, गाड़ियों के पहियों के नीचे अथवा नदियों किनारे अपमानित होती है, जिनका विधि विधान से विसर्जन नही हो पाता है। वर्ष भर श्रद्धा के साथ जिन प्रतिमाओं का पूजन करते हैं, दीपावली पर नई मूर्तियों को पूजन हेतु उनके स्थान पर स्थापित कर पुरानी वर्ष भर श्रद्धा पूर्वक पूजी गई मूर्तियों को विसर्जित करने की जगह इधर – उधर लावारिस रख देते हैं, जिससे मूर्तियों का अपमान होता है।

महापौर संयुक्ता भाटिया ने धार्मिक आस्था के सम्मान और पर्यावरण की चुनौतियों को ध्यान में रखकर मंगलमान एवं अन्य संस्थाओं से समन्वय स्थापित करते हुए नगर निगम के सहयोग से पुरानी एवं खंडित मूर्तियों के ससम्मान भूविसर्जन का अभियान दीपावली से पूर्व प्रारम्भ किया था। जिसमे जनता से उनके घर के आस पास जहां मूर्तिया इक्कठा की जाती है उसकी सूचना मंगलमान की टीम को देंगे। वहा से मंगलमान की टीम एकत्रित कर नगर निगम की टीम के सहयोग से सामूहिक भू विसर्जित करेगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button