उत्तर प्रदेशलखनऊ

कोरोना की तरह होम आइसोलेट होंगे जीका संक्रमित मरीज! 400 मीटर के दायरे में बनेगा कंटेनमेंट जोन

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में जीका वायरस की रोकथाम के संबंध में शनिवार को स्मार्ट सिटी में महत्वपूर्ण बैठक हुई. DM की अध्यक्षता में हुई बैठक में अब तक की स्थिति की समीक्षा की गई. ऐसे में जिलाधिकारी ने कोरोना की तरह जीका वायरस रोगी को भी होम आइसोलेट करने, कंटेनमेंट जोन बनाने के निर्देश दिए. साथ ही निगरानी टीमों को तत्काल एक्टिव कर सर्विलांस काम में तेज करने का निर्देश दिए.

दरअसल, बैठक में स्वास्थ्य अधिकारियों ने बताया कि राजधानी में जीका वायरस के 3 मामले सामने आए हैं. इस दौरान डीएम अभिषेक प्रकाश ने निर्देश देते हुए कहा कि जहां भी जीका वायरस का केस आया है, उस जगह पर 400 मीटर के दायरे में जीका कंटेटमेंट जोन बनाया जाए और उस कंटेटमेंट जोन में स्वास्थ्य विभाग की टीमें घर घर जा कर एंटी लार्वा की चेकिंग व लोगों का टेस्ट करेंगी.

इसके साथ ही ज़ीका वायरस पॉजि़टिव व्यक्ति के घर के बाहर बैरिकेडिंग भी की जाएगी. डीएम ने बताया कि जीका वायरस पॉजिटिव रोगी को पूरी तरह आइसोलेशन में रखा जाए. इंटीग्रेटेड कोविड कमांड सेंटर के माध्यम से लोगों को जीका वायरस के संबंध में जानकारी उपलब्ध कराने के लिए हेल्पलाइन नंबर 0522-4523000 को जारी किया गया है.

100 सर्विलांस टीमें लगाई गईं

बता दें कि डीएम ने बताया कि जीका कंटेटमेंट जोन के लिए 100 सर्विलांस टीमों को लगाया गया है, जो सुबह 8 बजे से शाम 4.30 बजे तक फील्ड में रहेंगी और शाम 5 बजे ब्रीफिंग देंगी. उन्होंने कहा कि अभी तक जिले में 3 मामले जीका वायरस के सामने आए हैं, जिसमे 2 मरीजों को होम आइसोलेशन में रखा गया है और एक रोगी को अस्पताल में भर्ती कराया गया है. डीएम ने निर्देश दिए कि आठ अस्पतालों में जीका वायरस वार्ड बनाए जाएं, ताकि रोगी को जल्द से जल्द इलाज उपलब्ध कराया जा सके.

फॉगिंग टाइमिंग किया गया तय

वहीं, डीएम ने निर्देश दिए कि जीका कंटेटमेंट ज़ोन में सुबह 6 बजे से 8 बजे तक और शाम 4 बजे से 6 बजे तक फॉगिंग व एंटी लार्वा का छिड़काव कराना सुनिश्चित किया जाए. इसके साथ ही जिन इलाकों में गाड़ी न जा पाए उन इलाकों में साइकिल के द्वारा छिड़काव करना सुनिश्चित किया जाए.

500 सुपर सर्विलांस टीमें भी बनीं

गौरतलब है कि डीएम के निर्देश पर जीका वायरस पर नियंत्रण स्थापित करने के उद्देश्य से 500 सुपर सर्विलांस टीमों का गठन किया गया है. जिनके द्वारा घर घर जा कर चेकिंग व जीका मरीजों की मॉनिटरिंग की जाएगी. साथ ही हर सीएचसी पर 25- 25 टीमें लगाई जाएंगी. प्रत्येक टीम में आशा, आंगनबाड़ी, सिविल डिफेंस और हुसैनाबाद ट्रस्ट के कर्मियों को लगाया जाएगा.

एयरपोर्ट पर तैनात होंगे 2 अपर नगर मजिस्ट्रेट

डीएम ने निर्देश दिए कि दो अपर नगर मजिस्ट्रेट की ड्यूटी एयरपोर्ट पर लगाई जाए. जोकि राजस्थान और केरल में ज़ीका वायरस प्रभावी प्रदेशों से आने वाले यात्रियों और विदेश से आने वाले यात्रियों की लिस्ट बनाएंगे. इसी प्रकार रेलवे स्टेशन बस स्टॉप में भी बाहर से आने वाले लोगों की लिस्ट बनाई जाएगी. वहीं, कैंट एरिया में आर्मी कमांड सेंटर से भी बाहर से आने वाले लोगों की लिस्ट मंगाना सुनिश्चित किया जाए.

जीका वायरस के लक्षण व उनसे बचाव के लिए 40 होर्डिंग लगवाई जाएं

वहीं,डीएम ने निर्देश दिए कि जिले में जीका वायरस के लक्षण व उनसे बचाव के उपाय संबंधित 40 होर्डिंग नगर निगम व जिला स्वास्थ्य समिति के द्वारा लगवाए जाएं. जिससे लोग इस महामारी के संबंध में जागरूक हो सकें. डीएम ने अपील की है कि सभी लोग अपने घरों में सफाई रखें और कहीं भी पानी जमा न होने दें.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button