उत्तर प्रदेशलखनऊलखीमपुर खीरी

9 दिन पहले ही रिटायर हुए हैं जस्टिस प्रदीप श्रीवास्तव, अब करेंगे लखीमपुर मामले की जांच

लखीमपुर खीरी मामले की जांच में तेजी आ रही है. एक ओर सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में स्वत: संज्ञान लेते हुए सुनवाई करनी शुरू कर दी है तो वहीं उत्तर प्रदेश के राज्यपाल ने इस मामले की जांच के लिए हाइ कोर्ट के रिटायर्ड जज प्रदीप कुमार श्रीवास्तव की अध्यक्षता में आयोग का गठन किया है. इस बड़े मामले की जांच करने वाले कौन हैं प्रदीप कुमार श्रीवास्तव? अब तक कौन-कौन सी जिम्मेदारियां संभाल चूके हैं?

दरअसल लखीमपुर खीरी मामले की जांच करने जा रहे जस्टिस प्रदीप कुमार श्रीवास्तव हाल की में इलाहाबाद हाई कोर्ट से रिटायर हुए हैं. श्रीवास्तव 9 दिन पहले 29 सितंबर को ही रिटायर हुए हैं. जस्टिस प्रदीप श्रीवास्तव साल 1996 में पीसीएस जे के जरिए न्यायिक अधिकारी बने थे. इसके बाद उन्हें कई बड़े पदभार दिए गए हैं.

2020 में बनाए गए हाई कोर्ट के स्थाई जज

जस्टिस प्रदीप श्रीवास्तव को 2002 में हायर ज्यूडिशल सर्विसेज में प्रमोट किया गया. इसके बाद 2015 में वह डिस्ट्रिक्ट एंड सेशन जज बने थे. इसके कुछ ही साल बाद उन्होंने हाई कोर्ट में कदम रखा. 22 नवंबर साल 2018 को प्रदीप श्रीवास्तव को इलाहाबाद हाई कोर्ट में एडिशनल जज के तौर पर नियुक्त किया गया. करीब दो साल बाद उन्होंने 20 नवंबर 2020 को हाई कोर्ट के स्थाई जज के तौर पर शपथ ली थी. अब तकरीबन एक साल बाद 9 दिन पहले जस्टिस प्रदीप श्रीवास्तव 29 सितंबर को रिटायर हुए हैं.

जस्टिस श्रीवास्तव को 2 महीने में करनी है जांच पूरी

अब रिटायर होते ही उन्हें लखीमपुर खीरी मामले की जांच के लिए गठित आयोग की अध्यक्षता सौंपी गई है. इस मामले में जस्टिस श्रीवास्तव को 2 महीने में जांच पूरी करनी है. जांच के लिए आयोग के गठन के लिए अधिसूचना जारी की गई है. अधिसूचना में कहा गया है कि राज्यपाल की यह राय है कि 3 अक्टूबर को लखीमपुर खीरी में 8 लोगों की मौत की जांच होना जरुरी है. जिसके लिए इलाहाबाद हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज प्रदीप कुमार श्रीवास्तव को एकल सदस्यीय जांच आयोग के रूप में नियुक्त करते हैं. जांच आयोग को अधिसूचना जारी किए जाने से 2 महीने की अवधि के भीतर अपनी जांच पूरी करनी होगी. इसकी अवधि में किसी प्रकार का बदलाव शासन की ओर से किया जाएगा.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button