उत्तर प्रदेशगोरखपुर

धनतेरस पर 1.01 लाख दीपों से जगमग हुआ गोरखपुर

नया सवेरा नौकायान पर मनाया गया दीपोत्सव, दीपों की रोशनी से बढ़ी तारामंडल की सुंदरता

गोरखपुर विकास प्राधिकरण (GDA) की ओर से आयोजित इस कार्यक्रम में एक लाख एक हजार दीप जलाए गए। गोरखपुर शहर में पिकनिक स्पाॅट के रूप में लोगों की पहली पसंद बन चुका नया सवेरा धनतेरस के मौके पर मंगलवार को एक लाख एक हजार दीपों की रोशनी से जगमग हो उठा। ऐसा पहला अवसर था जब यहां दीपोत्सव का आयोजन किया गया। गोरखपुर विकास प्राधिकरण (GDA) की ओर से आयोजित कार्यक्रम में एक लाख एक हजार दीप जलाए गए। जनप्रतिनिधि, वरिष्ठ अधिकारियों से लेकर यहां घूमने आए आम जनमानस ने भी दीप जलाकर दीपोत्सव के भव्य कार्यक्रम में सहयोग दिया।

अलग-अलग आकार में सजाए गए दीप

नया सवेरा के प्रवेश द्वार से लेकर नौकायन के बाद तक दीप सजाए गए थे। ताल की ओर बनी सीढ़ियों पर, जमीन पर, फुटपाथ के किनारों पर, तिरंगा के पास अलग-अलग आकार में दीपों को सजाया गया था। नौकायन पर चारो ओर दीप सजाए गए थे। ‘आइ लव गोरखपुर’ की आकृति की सुंदरता दीपों की रोशनी से और बढ़ गई थी। महापौर सीताराम जायसवाल, सांसद रवि किशन, विधायक डॉ. राधामोहन दास अग्रवाल, विपिन सिंह, नगर निगम के उपसभापति ऋषिमोहन वर्मा, एडीजी जोन अखिल कुमार, जीडीए उपाध्यक्ष प्रेम रंजन सिंह ने दीप जलाकर कार्यक्रम की शुरूआत की। नया सवेरा पर घूमने आए महिलाओं, बच्चों एवं युवाओं ने भी स्वेच्छा से दीप जलाए।  दीपोत्सव के कार्यक्रम में महिलाओं की खास रुचि रही। जगह-जगह तल्लीनता से वे दीप जलाती नजर आईं। नौकायन पर सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित किया गया था। सांसद रविकिशन ने यहां एक गीत भी प्रस्तुत किया। उन्होंने कहा कि दीपोत्सव के कार्यक्रम से काफी सकारात्मक संदेश जाएगा।

पर्यटन को मिलेगा बढ़ावा

महापौर सीताराम जायसवाल ने इस कार्यक्रम की सराहना करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री के प्रयासों से इस क्षेत्र का काफी विकास हुआ है। इस तरह के भव्य कार्यक्रम से पर्यटन को और बढ़ावा मिलेगा। एडीजी जोन ने भी कार्यक्रम की तारीफ की। जीडीए उपाध्यक्ष ने कार्यक्रम की रूपरेखा बताते हुए कहा कि पहली बार इस तरह का कार्यक्रम आयोजित किया गया है। लोगों में इसको लेकर काफी उत्साह देखने को मिला। नया सवेरा पहुंचे लोगों ने लाइट एंड साउंड शो का भी आनंद उठाया। इस दौरान जीडीए के सचिव उदय प्रताप सिंह, मुख्य अभियंता पीपी सिंह, सेवानिवृत्त अधीक्षण अभियंता आरएस दिवाकर, अधिशासी अभियंता मुकेश अग्रवाल, किशन सिंह, सहायक अभियंता जेपी श्रीवास्तव, इंद्रजीत सिंह, यशवंत सिंह, सत्येंद्र सिंह आदि उपस्थित रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button