उत्तर प्रदेशलखनऊ

उत्तराखण्ड महोत्सव में सुनाई पड़ रहा दूसरे अंचलों का भी लोक संगीत

  • लखनपुरी के गोमती तट के पं. गोविन्द वल्लभ पंत सांस्कृतिक उपवन में चल रहा महोत्सव

लखनऊ। लखनपुरी के गोमा तट पर चल रहे उत्तराखण्ड महोत्सव में विभिन्न अंचलों के लोक संगीत की धुन सुनाई पड़ रही है। मध्य प्रदेश का लोक संगीत हो चाहे उत्तर प्रदेश के विभिन क्षेत्रों का। शनिवार को अवकाश के कारण काफी संख्या में लोग महोत्सव घूमने आए। महोत्सव की पांचवीं संध्या पर मुख्य अतिथि भारतीय जनता पार्टी, अवध क्षेत्र के अध्यक्ष शेष नारायण मिश्रा व विशिष्ट अतिथि क्षेत्रीय उपाध्यक्ष, अवध क्षेत्र, जितेन्द्र सिंह, रूड़की, छतरैला के विधायक देशराज मौजूद थे। इस मौके पर उत्तराखण्ड की पत्रिका पैलाग उत्तराखण्ड के नवम्बर- 2021 के अंक का मुख्य अतिथि ने विमोचन किया। पत्रिका के सम्पादक सुरेन्दर बिष्ट, उपसम्पादक राजेश बिष्ट, सम्पादकीय टीम की वरि. सदस्या डॉ. करूणा पाण्डेय व सहसम्पादक राजेन्द्र सिंह कनवाल भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

संकल्प सेवा संस्थान की कलाकार पूनम सोनी ने श्री गणेश वन्दना की भक्तिमय प्रस्तुति सांस्कृतिक संध्या की शुरूआत की। महेन्द्र गैलाकोटी के नेतृत्व में उत्तराखण्ड महापरिषद रंगमंडल के कलाकारा विजय बिष्ट, धर्मेन्द्र रावत, रोहित जोशी, आशीष रतूणी, ईशा बड़शिलिया, सोनम सिंह, आरती बिष्ट, ज्योति बिष्ट व प्रेरणा बिष्ट ने पहाड़ का झोड़ा, थड़िया नृत्य प्रस्तुत किया। ईशा बड़शिलिया ने युगल नृत्य प्रस्तुत दर्शकों को झुमा दिया।

उत्तर मध्य सांस्कृतिक क्षेत्र प्रयागराज से आए दल ने दीपेश पाण्डेय के नेतृत्व में म.प्र. के नौरता एवं बधाई नृत्य प्रस्तुत कर अपनी लोक-संस्कृति से रूबरू कराया। संजय श्रीवास्तव ने भजन व गजल की सुन्दर प्रस्तुति दी। उत्तराखण्ड के लोक गायक गिरीश बुगियाल ने कुमांऊनी लोक गीत गाकर श्रोताओं का मुग्ध किया। पिंकी नौटियाल के नेतृत्व में नीलमत्था के दल ने शिव तॉडव में प्रस्तुत किया। इसके अलावा अन्य कलाकारों में मिजाज सुनैना, जाघु कमला, पिंकी, सृष्टि, मनीषा, काजल, मानसी, चॉदनी, दीक्षा, शिवानी, भावना, ऑचल, रश्मि, आरती, अतुल, शिवम, राघव, आयुश, सुमित ने सुन्दर प्रस्तुतियां पेश की।

भारती बिष्ट के दल ने गढ़वाली लोक गीत की प्रस्तुति देकर दर्शकों को आकर्षित किया। स्वरा त्रिपाठी के एकल नृत्य ने खूब तालियां बटोरी। बागीशा पन्त का एकल नृत्य भी खूब सराहा गया। रेडियो मिर्ची की जॉकी तासी ने मिर्ची महफिल का आयोजन कर समा बांधा। समूह नृत्य की प्रतियोगिता सीता नेगी, हेमा बिष्ट, सुनीता कनवाल, विद्या सिंह एवं राजेश्वरी रावत के नेतृत्व में आयोजित की गयी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button