उत्तर प्रदेशप्रयागराज

डायबिटीज एक जटिल समस्या, हर अंग प्रभावित : डॉ अनुभा

  • डिफीट डायबिटीज : टेस्ट, ट्रैक एण्ड ट्रीट पर व्याख्यान

प्रयागराज। मधुमेह या डायबिटीज एक जटिल समस्या है जो कि नई महामारी के रूप मे उभर रही है। इस बीमारी में रक्त शर्करा की मात्रा अत्यधिक हो जाती है और जिसके लंबे समय तक अनियंत्रित होने के फलस्वरूप यह हर अंगों को प्रभावित करती है। यह बातें विश्व मधुमेह दिवस के उपलक्ष्य में मोतीलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज, मेडिसिन विभाग की एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. अनुभा श्रीवास्तव ने ‘‘डिफीट डायबिटीज : टेस्ट, ट्रैक एण्ड ट्रीट’’ विषय पर आयोजित वैज्ञानिक कार्यशाला में सम्बोधित करते हुए कही। उन्होंने बताया कि अंतरराष्ट्रीय डायबिटीज फेडरेशन (आईडीएफ) एवं विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्लूएचओ) ने 1991 में 14 नवम्बर को विश्व मधुमेह दिवस घोषित किया। इस वर्ष इनसुलिन के खोज की भी 100वीं वर्षगांठ है।

डॉ अनुभा ने बताया कि 2019 मे 46.3 करोड़ लोग विश्व भर में मधुमेह से ग्रसित पाये गये हैं। जिसमें 7.7 करोड़ भारतवर्ष में ही हैं। मधुमेह से पहले वाली स्थिति प्रीडायबिटीज होती है, 3.5 करोड़ प्रीडायबिटीक हैं और 14 प्रतिशत भारत में है। चिन्ताजनक यह है कि यंग डायबिटीज यानी कम उम्र में ही हमे टाइप-2 डायबिटीज के मरीज में बढ़ोत्तरी हो रही है। टाइप-1 डायबिटीज ज्यादातर बच्चों एवं युवाओं में देखी जाती है, जिसमें इनसुलिन नहीं बन रही होती है। तो आजीवन हमें इनसुलिन इन्जेक्शन लेने होते हैं।

उन्होंने बताया कि टाइप-2 डायबिटीज ज्यादातर बढ़ती उम्र, मोटापे वंशानुक्रम या पहले से होते हैं, माताएं जिनको गर्भावस्था में शुगर पता चली है, ऐसे लोगों में ज्यादा मिलती है और इन्हे दवाओं से नियत्रित कर सकते हैं। अगर शुगर हमारी अनियंत्रित है तो उसमें 2-4 गुना ज्यादा हृदय एवं गुर्दे की समस्या हो सकती है। ऑखों एवं नसां पर भी प्रभाव पड़ता है और अगर इनका शुरूआत में ही सही नियंत्रण किया जाए तो इन दुष्परिणामों से बचा जा सकता है।

कार्यक्रम की अध्यक्षता एएमए अध्यक्ष डॉ. सुजीत कुमार सिंह ने एवं संचालन सचिव डॉ. आशुतोष गुप्ता ने किया। डॉ. अनिल कुमार अग्रवाल, डॉ. जी.एस सिन्हा, डॉ. सुबोध जैन संगोष्ठी कें चेयरपर्सन थे। संगोष्ठी में शहर के अधिकांश चिकित्सकों ने भाग लिया। जिनमें डॉ. शार्दूल सिंह, डॉ. आरकेएस चौहान, डॉ. अशोक अग्रवाल, डॉ. अनिल शुक्ला, डॉ. अनूप चौहान, डॉ. अतुल दूबे, डॉ. सुभाष चन्द्र वर्मा, डॉ. अभिनव अग्रवाल, डॉ. उत्सव सिंह आदि मौजूद थे।

इसके पूर्व इलाहाबाद मेडिकल एसोसिएशन, प्रयागराज पेसर्स (महिला ग्रुप) और टू व्हीलस थ्रिल गू्रप (पुरूष गु्रप) के संयोजन से, विश्व मधुमेह दिवस के अवसर पर मधुमेह मुक्त भारत के लिए जागरूकता रैली साईकिलिंग के माध्यम से निकाली गयी। जिसका संचालन खेल सचिव डॉ. अतुल दूबे एवं डॉ. रितु जैन ने किया। इस रैली को एएमए कनवेन्शन सेंटर से प्रारम्भ किया गया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button