उत्तर प्रदेशबुलंदशहर

यूपी विधानसभा चुनाव अकेले लड़ेगी कांग्रेस, प्रियंका गांधी ने कहा- करो या मरो

उत्तर प्रदेश में चुनावी बिगुल बज चुका है, सभी राजनीतिक दलों ने आगामी विधानसभा चुनाव के लिए कमर कस ली है. कांग्रेस ने भी उत्तर प्रदेश के चुनावी समर में अपनी नैया कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के भरोसे उतारी है. ऐसे में प्रियंका गांधी वोटों के पास जाने से पहले अपने संगठन को मजबूत करने में जुट गई है, रविवार को प्रियंका गांधी वाड्रा ने बुलंदशहर के अनूपशहर से इसी शुरू की और अनूपशहर के डिग्री कॉलेज में प्रतिज्ञा सम्मेलन, लक्ष्य 2022 की शुरुआत की, जिसमें 14 जिलों के हजारों पदाधिकारियों के साथ संवाद किया

प्रियंका गांधी ने कहा कि हमारे करो या मरो का नारा रहा है आज एक बार फिर मैं आपसे यही नारा दोहराने को कहती हूं, चुनावों में तीन महीने का ही वक़्त रह गया है, ऐसे में बिना डरे संगठन को मजबूत करने और संगठन में कार्यकर्ताओं को बढ़ाने के कार्यक्रम में जुट जाओ. हर घर जाकर पार्टी के संकल्पों के बारे में लोगों को बताओ उन्हें अपने साथ जोड़ो, अगले 2 महीने का लक्ष्य बताते हुए प्रियंका गांधी ने कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों को संगठन के प्रसार के लिए सोशल मीडिया के इस्तेमाल करने के लिए कहा.

प्रियंका ने सपा, बसपा पर साधा निशाना

प्रियंका गांधी ने कांग्रेस के पदाधिकारियों से कहा कि कांग्रेस अपने बूते ही सभी सीटों पर चुनाव लड़ेंगी जिसमें 40% फीसदी सीटों पर टिकट महिलाओं को दी जाएगी, इस दौरान प्रियंका गांधी ने विपक्षी दलों सपा और बसपा पर निशाना साधाते हुए कहा कि यूपी में जमीनी स्तर पर न सपा लड़ रही है और ना ही बसपा, सिर्फ कांग्रेस लड़ ही रही है. पार्टी कार्यकर्ताओं की तारीफ करते हुए प्रियंका ने कहा कि कोरोना महामारी हो या कोई और आपदा कांग्रेसी कार्यकर्ता ही जनता की मदद करने में आगे रहे. उन्नाव, लखीमपुर खीरी और हाथरस की घटनाओं का जिक्र करते हुए प्रियंका ने कहा कि पीड़ितों की मदद के समय सपा और बसपा कहां थी?

आजादी का सम्मान नहीं करती बीजेपी

प्रियंका गांधी ने भाजपा पर निशाना साधा और कहा कि जो आजादी के लिए नहीं लड़े वे आजादी का सम्मान नहीं कर सकते और वे आजादी की अहमियत नहीं समझ पा रहे हैं. प्रियंका गांधी ने देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के समय का जिक्र करते हुए कहा कि उन्होंने अपनी किताब “भारत एक खोज” में भारत माता की जय के नारे को लेकर लिखा था, इस नारे का मतलब था, जय किसान, जय जवान, जय कार्यकर्ता, जय महिलाएं उसमें सभी की जय थी.

सभी के लिए संवैधानिक स्वतंत्रता, वित्तीय स्वतंत्रता और लोकतंत्र की व्यापकता, हमने पंक्ति के आखिर में खड़े व्यक्ति को भी प्राथमिकता दी और कांग्रेस की हर नीति में हमेशा पिछड़ों को प्राथमिकता दी गई है. प्रियंका ने आगे कहा कि मैं 2 साल से उत्तर प्रदेश आ रही हूं जब भी मैं यूपी आती हूं तो महसूस होता है कि भाजपा आजादी का मतलब नहीं समझती.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button