उत्तर प्रदेशलखनऊ

तिलहन की बढ़ती कीमतों के लिये केंद्र व राज्य सरकारें जिम्मेदार: कांग्रेस

लखनऊ। कांग्रेस पार्टी ने कहा है कि खाद्य पदार्थों, दलहन व तिलहन की बढ़ती कीमतों के लिये भाजपा की केंद्र व राज्य सरकारें जिम्मेदार हैं। कांग्रेस ने कहा है कि सरकार की अधिक कर वसूली नीति से बढ़ती महंगाई ने आम जनमानस की कमर तोड़ कर रख दी है। उत्तर प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता जावेद अहमद ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर क्रूड ऑयल के दाम वर्ष 2014 की तुलना में आज लगभग 42 डॉलर प्रति बैरल कम होने के बाद भी दामों को नियंत्रित करने में विफल सरकार की गलतियों का खामियाजा आम उपभोक्ता को उठाना पड़ रहा है। मालभाड़ा में निरन्तर बढ़ोत्तरी से खाद्य वस्तुओं के दाम के साथ तेल की कीमत आसमान छू रही है, सरकार राहत देने के स्थान पर आंख बंद किये बैठी है।

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था जोखिम में है,सरकार के संरक्षण में जिस तरह सब कुछ बाजार के नियंत्रण में देने और जनता से अधिक कर वसूलने की रणनीति पर काम हो रहा है, वह एक लोकतांत्रिक व्यवस्था में जनकल्याणकरी व्यवस्था नहीं है, यही कारण है कि घर की व्यवस्थाओं और भोजन के संकट की मार से निम्न व मध्यम वर्ग कराह रहा है। सरकार द्वारा मुद्रास्फीति पर किया जा रहा दावा पूरी तरह मिथ्या आंकड़ों की भरमार और जमीनी सच्चाई से दूर है।

उन्होंंने कहा कि सब्जियां,दलहन,तिलहन व अन्य खाद्य वस्तुओं के दाम तेजी से बढ़ रहे है, वही पेट्रोल डीजल के दामों में प्रतिदिन हो रही बढ़ोत्तरी से मालभाड़ा बढ़ना कोढ़ में खाज की तरह होता जा रहा है। लोकतांत्रिक व्यवस्था सरकार की नैतिक व संवैधानिक जिम्मेदारी है कि वह जनता को राहत दे, लेकिन वह राहत देने के लिये कोई कदम उठाने के बजाय वह अपने कारपोरेट मित्रों को लाभ पहुंचाने तक सीमित होकर जनसरोकार को अपने एजेंडे से अलग कर चुकी है।

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि देश में गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वालों की संख्या बढ़ रही है, ऑटोमोबाइल सेक्टर के उत्पादों की बिक्री घट रही है,देश भुखमरी के मामले में नेपाल, पाकिस्तान बंग्लादेश जैसे राष्ट्रों के पीछे होना साबित करता है कि देश की अर्थव्यवस्था से लेकर सभी व्यवस्थायें ध्वस्त हो चुकी है। उन्होंने कहा हर मोर्चे पर विफल सरकार ने जनता को भुखमरी की तरफ धकेलने का काम कर रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button