उत्तर प्रदेशगोरखपुरताज़ा ख़बर

वनटांगिया समुदाय के बीच दिवाली मनाने पहुंचे सीएम योगी, बोले-राम राज्य का सपना हुआ है साकार

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज गोरखपुर के वनटांगिया समुदाय के गांव तिनकोनिया नंबर तीन में पहुंचे. वहां पर वनटांगिया, राज्य के सीएम योगी आदित्यनाथ और अपने महाराज जी के स्वागत के लिए इंतजार कर रहे थे. सीएम योगी ने उनके साथ दिवाली मनाई और कहा कि आजादी के बाद भी 70 साल तक वनटांगियां गांवों में मूलभूत सुविधा नहीं मिली और ना ही वोट देने का अधिकार था. लेकिन अब यहां पर राम राज्य है. उनके पास वोट देने का अधिकार भी है और यहां पर 2017 से विकास की एक नई गाथा लिखी जा रही है.

सीएम योगी पिछले 13 सालों से गोरखपुर के वनटांगिया समुदाय के साथ जंगल गांव में दिवाली मनाते हैं. सांसद रहते हुए योगी आदित्यनाथ ने यहां के लोगों के अधिकारों के लिए लंबी लड़ाई लड़ी है. लिहाजा गांव के लोग आज भी सीएम योगी को ‘महाराज जी’ ही कहते हैं.आज सीएम योगी ने गांव के लोगों के साथ दिवाली मनाई और कहा कि अब हर व्यक्ति को सरकार की सभी कल्याणकारी योजनाओं का लाभ मिल रहा है. सभी के पास कृषि के लिए भूमि पट्टा, राशन कार्ड, आयुष्मान स्वास्थ्य कार्ड, पेंशन का अपना पक्का मकान, शौचालय, बिजली, रसोई गैस, शुद्ध पेयजल की सुविदा है. इसे ही राम राज्य कहा जाता है. उन्होंने कहा कि वनटांगिया गांव में राम राज्य की अवधारणा साकार हुई है.

अयोध्या से सीधे वनटांगिया गांव पहुंचे सीएम योगी

सीएम योगी कल दीपोत्सव कार्यक्रम में अयोध्या पहुंचे थे और आज सुबह उन्होंने श्रीराम जन्मभूमि में श्रीराम लाल के दर्शन कर पूजा अर्चना की. इससे पहले सीएम योगी हनुमानगढ़ी पहुंचे थे. वहां भी उन्होंने भगवान हनुमान की पूजा अर्चना की. इसके बाद गोरखपुर के वनटांगियां गांव पहुंच कर सीएम योगी आदित्यनाथ ने सड़कों और अन्य मूलभूत सुविधाओं के साथ आठ विकास परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया. उन्होंने वनटांगिया गांव में रहने वाले वरिष्ठ नागरिकों का सम्मान किया और उन्हें दिवाली के उपहार दिए.

आजादी के बाद भी किसी ने नहीं दिया वनटांगिया समुदाय पर ध्यान

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि देश को आजादी मिलने के बाद भी वनटांगिया समुदाय उपेक्षित था और किसी भी सरकार ने इस समुदाय के लिए नहीं सोचा. यहां के लोगों के पास कृषि के लिए आवास, बिजली, सड़क, पानी, जमीन जैसी सुविधाएं नहीं थीं. यहां तक भी यहां के लिए अपना मुखिया भी नहीं चुन सकते थे. लेकिन राज्य में बीजेपी की सरकार आने के बाद वनटांगिया गांवों को राजस्व ग्राम घोषित किया और सरकार की सभी योजनाओं और सुविधाओं का लाभ यहां के लोगो को मिला. आज यहां के हर परिवार के पास खेती के लिए अपना पक्का मकान, शौचालय, जमीन का पट्टा है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button