उत्तर प्रदेशखेती-किसानीलखनऊ

CM योगी ने धान खरीद के लिए किसानों को दी राहत! अब से मोबाइल नंबर की आधार से लिंक की अनिवार्यता खत्म; जारी हुआ आदेश

उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने  प्रदेश में की जा रही धान खरीद की समीक्षा की. इस दौरान उन्होंने बैठक में निर्देश दिए कि अब धान खरीद के लिए किसानों का फोन नंबर आधार से लिंक होने की अनिवार्यता को खत्म कर दिया है. ऐसे में धान खरीद में तेजी लाने के लिए किसानों को यह सहूलियत दी गई है. वहीं धान की सफाई व छनाई के लिए पावर डस्टर व पावर विनोवर उपलब्ध कराने के लिए टेंडर की अनिवार्यता से भी छूट दे दी गई है. इस संबंध में खाद्य व रसद विभाग के आयुक्त सौरभ बाबू ने आदेश जारी कर दिए है.

दरअसल, प्रदेश में अभी तक किसान उसी नंबर पर रजिस्टर करवा सकते थे जो मोबाइल नंबर आधार से लिंक हो, जिससे आधार से उनका वैरीफिकेशन हो सके लेकिन ज्यादातर किसानों का आधार वाला नंबर बंद हो चुका है. इसके लिए 2 विकल्प उन्हें दिए गए थे कि या तो वह आधार कार्ड सेंटर में जाकर अपना फोन नंबर अपडेट करवा लें और दूसरा ये था कि वे अपना वह नंबर दोबारा से चालू करवा लें. लेकिन इन सब जानकारी के अभाव में किसान दर-दर भटक रहे थे. हालांकि अब किसानों को इससे छूट दे दी गई है.

ई-टेण्डर के जरिए चयन करने का था नियम

बता दें कि वहीं धान की उतराई, छनाई व सफाई कर के उसकी क्वालिटी केन्द्र सरकार द्वारा तय की गई गुणवत्ता मानकों के तहत लाने के लिए पावर डस्टर व पावर विनोवर उपलब्ध कराने के लिए क्रय एजेंसियां किसी व्यक्ति या संस्था को नामित कर सकेंगी. हालांकि अभी तक इसके लिए ई-टेण्डर के जरिए सेवा प्रदाता का चयन करने का नियम था.

किसानों को SMS के माध्यम से दी जाए धान के संबंध में जानकारी

गौरतलब है कि सूबे के सीएम ने किसानों से धान खरीद की सीमा समाप्त करने का निर्देश देते हुए कहा कि धान खरीद में प्रशिक्षित कर्मियों को लगाया जाए. इसके साथ ही किसानों को उनसे की गई धान खरीद के सम्बन्ध में जानकारी SMS के माध्यम से दी जाए. साथ ही उन्हें धान की खरीद के लिए आवश्यक गुणवत्ता के सम्बन्ध में भी जानकारी दी जाए और नमी की समस्या को दूर करने से सम्बन्धित उपकरण क्रय केन्द्र पर उपलब्ध कराए जाएं. उन्होंने बटाईदार किसानों की समस्याओं का त्वरित समाधान सुनिश्चित करने के निर्देश दिए. उन्होंने राइसमिलर्स के साथ संवाद स्थापित करते हुए उनकी समस्याओं का भी समाधान करने का निर्देश दिया.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button