उत्तर प्रदेशताज़ा ख़बरलखनऊ

एक धर्म और एक समुदाय की बात करती है BJP, उत्तर प्रदेश में एनकाउंटर के बहाने मुसलमानों पर निशाना- ओवैसी ने फिर लगाए आरोप

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने रविवार को बीजेपी पर सांप्रदायिक राजनीति करने का आरोप लगाते हुए कहा कि मौजूदा उत्तर प्रदेश सरकार में 6,475 पुलिस एनकाउंटर हुए, जिनमें 37 फीसदी मुसलमान मारे गए. बलरामपुर में एक जनसभा को संबोधित करते हुए ओवैसी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में एक ऐसे मुख्यमंत्री और ऐसी पार्टी द्वारा सरकार चलाई जा रही है, जो सिर्फ एक धर्म और समुदाय की बात करती है.

हैदरबाद से लोकसभा सांसद ओवैसी ने सरकार पर लखीमपुर खीरी हिंसा मामले के आरोपियों को बचाने का भी आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि आरोपियों को बचाया जा रहा है क्योंकि वे ब्राह्मण हैं और बीजेपी चुनाव के कारण समुदाय में छवि नहीं बिगाड़ना चाहती है. उन्होंने कहा, “इन्होंने (योगी सरकार) कोई कसर बाकी नहीं रखी है भारत के संविधान की धज्जियां उड़ाने में. इन्होंने कोई कसर बाकी नहीं रखी कि सिर्फ एक ही मजहब की, एक ही तबके की, एक ही जात बिरादरी की बात करें.”

AIMIM प्रमुख ने बलरामपुर में “शोषित वंचित समाज सम्मेलन” में लोगों को संबोधित करते हुए आंकड़ों का जिक्र किया और कहा कि सरकार पुलिस एनकाउंटर के नाम पर मुसलमानों को निशाना बना रही है. उन्होंने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि प्रधानमंत्री ने लखनऊ आकर 18 लाख दीए जलाने की बात की, लेकिन किसानों की मौत पर कुछ भी नहीं कहा.

इससे पहले लखनऊ में ओवैसी ने किसानों की मौत के लिए बीजेपी पर निशाना साधा और इसे सुनियोजित साजिश और हत्या बताया. उन्होंने कहा, “बीजेपी में आरएसएस और बीजेपी के शासकों की मंजूरी के बिना कुछ भी नहीं होता है. यह दूसरी पार्टियों की तरह नहीं है जहां चीजें बिना प्लानिंग के भी हो सकती है.”

मंत्री ने खुलेआम किसानों को दी थी धमकी- ओवैसी

उन्होंने कहा कि यह सभी जानते हैं कि टेनी (अजय मिश्रा) ने प्रदर्शनकारी किसानों को धमकाया था और खुलेआम कहा था कि वे उन्हें सबक सिखा सकते हैं और फिर किसानों को मंत्री की गाड़ी से कुचल दिया जाता है. उन्होंने पुलिस की कार्रवाई पर सवाल उठाते हुए कहा कि जब मंत्री का बेटा पुलिस हिरासत में था तो उसे 12 घंटे में 10 बार नाश्ता दिया गया. ओवैसी ने कहा, “पुलिस जिस तरीके से उनका खयाल रख रही थी, ऐसा लगता है कि वह मर्डर का आरोपी नहीं बल्कि वो अपने ससुराल आया हो.”

पिछले रविवार को किसानों के विरोध प्रदर्शन के दौरान लखीमपुर खीरी जिले के तिकोनिया इलाके में चार किसानों समेत 8 लोगों की मौत हो गई थी. संयुक्त किसान मोर्चा (SKM) ने आरोप लगाया कि कुछ प्रदर्शनकारी किसानों को कथित रूप से दो ‘एसयूवी’ वाहनों से कुचला गया. किसान नेताओं ने आरोप लगाया कि केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय कुमार मिश्रा का बेटा आशीष मिश्रा कथित रूप से दुर्घटना में शामिल एक एसयूवी कार में सवार था. आशीष मिश्रा को 12 घंटे की पूछताछ के बाद शनिवार को गिरफ्तार किया गया था.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button