उत्तर प्रदेशलखनऊसत्ता-सियासत

यूपी विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी ने किया घोषणा पत्र समिति का गठन, कैबिनेट मंत्री सुरेश खन्ना को बनाया अध्यक्ष

उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए राज्य की सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी ने घोषणा पत्र समिति का गठन किया है. प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने घोषणा पत्र समिति का ऐलान करते हुए कैबिनेट मंत्री सुरेश खन्ना को समिति का अध्यक्ष घोषित किया है. इस समिति में राज्यसभा सांसद ब्रज लाल को उपाध्यक्ष मनोनीत किया गया है और सांसद राजेश वर्मा, विजय पाल तोमर, रीता बहुगुणा जोशी, कान्ताकर्दम, सीमा द्विवेदी और पुष्कर मिश्रा को सदस्य मनोनीत किया गया है.

राज्य में अगले कुछ ही महीने में विधानसभा चुनाव होने हैं और सभी सियासी दल घोषणा पत्र की तैयारी कर रहे हैं. जबकि राज्य में राष्ट्रीय लोकदल ने घोषणा पत्र जारी कर दिया है. जबकि कांग्रेस भी तैयारियों में जुटी है. वहीं बीजेपी ने भी इसका ऐलान किया है. असल में घोषणा पत्र समिति और ज्वाइनिंग कमेटी के संबंध में चुनाव प्रभारी धर्मेंद्र प्रधान ने प्रदेश कार्यालय में प्रदेश प्रभारी राधामोहन सिंह, प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह और प्रदेश महामंत्री संगठन सुनील बंसल के साथ बैठक की थी और इस मुद्दे पर शाम को सीएम के साथ बैठक हुई थी. जिसमें दोनों उपमुख्यमंत्रियों के साथ मंत्री सुरेश खन्ना मौजूद थे.

झांसी में 19 नवंबर को आ सकते हैं पीएम मोदी

फिलहाल राज्य में बीजेपी चुनाव की तैयारियों में जुटी है. पीएम मोदी 19 नवंबर को झांसी आ सकते हैं. इसके साथ ही राज्य में चुनाव के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और राष्ट्रीय अध्यक्ष के कार्यक्रमों पर भी बीजेपी नेताओं की बैठक में चर्चा हुई. असल में पीएम नरेंद्र मोदी का 19 नवंबर को झांसी आने का कार्यक्रम प्रस्तावित है.19 नवंबर को पीएम के महोबा का कार्यक्रम भी बनाया जा रहा है. जबकि प्रधानमंत्री का 16 नवंबर को सुल्तानपुर और 25 नवंबर को जेवर यात्रा का कार्यक्रम प्रस्तावित है. वहीं 25 नवंबर को काशी और अवध क्षेत्र में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की बैठक प्रस्तावित है. जबकि इसके साथ ही राज्य में राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा भी कई दौरे करेंगे.

पिछली बार की तुलना में कम सीट जीतेगा विपक्ष-केशव मौर्य

पार्टी नेताओं के साथ बैठक में उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि सपा, बसपा और कांग्रेस इस बार 2017 की तुलना में कम सीटें जीतेंगे. उन्होंने कहा कि कांग्रेस सत्ता में आने पर जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 को फिर से लाने की बात कर रही है और जनता इस बार कांग्रेस को सबक सिखाएगी. जबकि राज्य के उपमुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा ने कहा कि 2022 का यह चुनाव राष्ट्र की रक्षा के लिए चुनाव है औऱ जो जिन्ना के लिए काम कर रहे हैं, उन्हें सबक सिखाना होगा.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button