उत्तर प्रदेशलखनऊ

अखिलेश यादव का तंज: ‘नोटबंदी’ के 5 साल बाद जनता करेगी ‘वोटबंदी’, सपाध्यक्ष ने BJP पर लगाए गंभीर आरोप

लखनऊ: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले सभी पार्टियां एक दूसरे की कमियां निकालने में लगी हैं. एक दूसरे पर ये दल हमलावर हैं. इसी बीच समाजवादी पार्टी के राष्ट्र्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने अपनी पार्टी के प्रदेश कार्यालय में कहा है कि प्रदेश में गरीब, भूखे और वंचित वर्ग की जनता इस बार भाजपा के खिलाफ ‘वोटबंदी’ करेगी और भाजपा को करारा जवाब मिलेगा.

नोटबंदी के 5 साल बाद सरकार से मांगा हिसाब

अखिलेश यादव ने कहा कि नोटबंदी किए हुए 5 साल हो गए. अब भाजपा को उन लोगों का खुलासा करना चाहिए, जो देश का धन हड़प कर विदेश भाग गए और वहीं बस गए हैं. अखिलेश का कहना हैकि अभी तक न काला धन वापस आया, न भ्रष्टाचार रुका औ न ही आतंकवाद पर लगाम लगी.

नोटबंदी नहीं खोटबंदी की जरूरत- अखिलेश

अखिलेश यादव ने हमलावर होते हुए आगे कहा कि अगर नोटबंदी से अर्थव्यवस्था और आय बढ़ने वाली बात सच होती, तो आयकर संग्रहण बढ़ता, लेकिन बढ़ा सिर्फ काला धन. ऐसे में सपा सुप्रीमो कहते हैं कि प्रदेश में नोटबंदी की नहीं, बल्कि खोटबंदी की जरूरत है.

भाजपा पर आरोप, नफरत फैलाने का करती है काम

बता दें, अखिलेश यादव ने प्रदेश कार्यालय में अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं से कहा कि बीजेपी ने अब तक के कार्यकाल में केवल अराजकता फैलाई है और कोई काम नहीं किया. अखिलेश कहते हैं कि नफरत फैलाने के साथ भाजपा ने समाज को बांटने की कोशिश की है. अखिलेश यादव का आरोप है कि बीजेपी झूठ के लिए निरंतर काम करती रहती है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button