उत्तर प्रदेशताज़ा ख़बरलखनऊ

सिविल, लोहिया और गन्ना संस्थान में कोरोना वारियर्स का हुआ स्वागत, राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद ने किया सम्मानित

लखनऊ। राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद द्वारा प्रदेश में कार्यरत कोरोना वारियर्स को सम्मानित करने का कार्य आज लोहिया चिकित्सालय, सिविल चिकित्सालय और गन्ना संस्थान में अलग-अलग समय पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए किया गया। कर्मचारियों को कर्तव्य पालन की शपथ दिलाते हुए उन्हें कोरोना योद्धा का सर्टिफिकेट प्रदान कर परिषद के नेताओं द्वारा सम्मानित किया गया।

राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के महामंत्री अतुल मिश्रा ने बताया कि लोहिया चिकित्सालय के सभागार में विभिन्न संवर्गो के लगभग 100 कर्मचारी उपस्थित हुए उन्हें कर्तव्य पालन की शपथ दिलाते हुए सरकारी सेवाओं को मजबूत करने तथा जनता की सेवा में समर्पण की शपथ दिलाई गई। सभी कर्मचारियों ने यह शपथ लिया कि कोरोना के संक्रमण काल में बिना किसी भेदभाव के जनता की सेवा करेंगे। कार्यक्रम 11:00 बजे से 12:00 बजे तक चला।

1:00 से 2:00 तक गन्ना संस्थान के सभागार में उन सभी कोरोना वारियर्स का सम्मान किया गया जो इस संक्रमण काल में आपातकालीन ड्यूटी संपादित कर रहे हैं। अपराहन 2:30 बजे से सिविल चिकित्सालय में लगभग 100 स्वास्थ्य कर्मियों को सम्मानित किया गया तथा उन्हें शपथ दिलाई गई। उपरोक्त कार्यक्रमों में परिषद के महामंत्री अतुल मिश्रा, प्रमुख उपाध्यक्ष सुनील यादव, गन्ना संस्थान कर्मचारी संघ के अध्यक्ष अभय पांडे एक्स-रे टेक्नीशियन संघ के अध्यक्ष राम मनोहर कुशवाहा सहित विभिन्न कर्मचारी नेता उपस्थित रहे।

ज्ञातव्य है कि देशभर में इप्सेफ के आव्हान पर 1 जुलाई से सरकारी सेवाओं को मजबूत करने के लिए विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है। उत्तर प्रदेश में परिषद द्वारा सभी जनपदों में कार्यक्रमों का आयोजन किया गया जिसमें सोशल डिस्टेंसिंग का भी ध्यान रखते हुए कोरोना योद्धाओं का मनोबल बढ़ाने के लिए उन्हें सम्मानित किया गया।

परिषद का कहना है कि अब जबकि निजी संस्थाओं द्वारा इस संक्रमण काल में नाम मात्र की सहायता भी नहीं की जा रही है वही जनता के विश्वास पर सरकारी कार्यालय एवं सरकारी सेवाएं खरी उतर रही है। प्रदेश में स्क्रीनिंग से लेकर बचाव और उपचार में चिकित्सा विभाग के विभिन्न संवर्गों के कर्मचारी कार्य कर रहे हैं जो अपनी जान जोखिम पर डालकर 24 घंटे जनता की सेवा में रत है।

इसलिए परिषद द्वारा इन सभी का सम्मान कर कर्मचारियों का मनोबल बढ़ाया गया निश्चित ही इससे प्रदेश की राजकीय सेवाओं पर जनता के विश्वास में उत्तरोत्तर वृद्धि होगी। सम्मानित होने वाले कर्मियों में मुख्य रूप से चिकित्सक, नर्सेज, फार्मेसिस्ट, कंप्यूटर ऑपरेटर, xray टेक्नीशियन, डेंटल हैजेनिस्ट, ऑप्टोमेट्रिस्ट, लैब टेक्नीशियन, वाहन चालक, चतुर्थ श्रेणी वार्ड बॉय, सफाई कर्मी आदि सम्मिलित रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button