उत्तर प्रदेशताज़ा ख़बरलखनऊ

सिटी इंटरनेशनल स्कूल ने ‘टैलेंट स्कॉलरशिप’ की घोषणा की

लखनऊ। सिटी इंटरनेशनल स्कूल ने उत्कृष्ट तथा प्रतिभाशाली छात्रों को स्कॉलरशिप देने का महत्वपूर्ण निर्णय लिया। आज दुनिया अभूतपूर्व कठिन समय से गुजर रही है। दुनिया की अर्थव्यवस्था वित्तीय अस्थिरता के कारण बुरी तरह प्रभावित हुए हैं। सीआईएस ने इस कठिन समय पर प्रतिभाशाली छात्रों को मदद करने के लिए छात्रवृत्ति की घोषणा की ताकि उन्हें ड्रॉपआउट होने से बचाया जा सके।

“टैलेंट स्कॉलरशिप” को टेस्ट और पिछले प्रदर्शन के आधार पर स्वीकृत किया जाएगा। इस स्कॉलरशिप का उद्देश्य उत्कृष्ट और प्रतिभाशाली छात्रों की आर्थिक सहायता करना है। यह योजना आर्थिक रूप से कमजोर पृष्ठभूमि के छात्रों के लिए है, लेकिन इस संकट के समय यह सभी वास्तविक आवेदकों के लिए भी उपलब्ध है।

यह स्कॉलरशिप लखनऊ और बाराबंकी के 7 परिसरो इंदिरा नगर, शक्ति नगर, रुचि खंड, गोमतीनर, बालागंज, गोमतीनगर एक्सटेंशन और बाराबंकी में प्रदान की जाएगी । संस्था पहले भी अपने ड्रीम प्रोजेक्ट के जरिए अनगिनत अशिक्षित बच्चों और बड़ों को शिक्षित कर चुकीं हैं।

सिटी इंटरनेशनल स्कूल की स्थापना शिक्षाशास्त्रीय डॉ सुनीता गांधी ने एजुकेशन में सुधार की जरूरत को समझते हुए की थी।अपने वर्षों के अंतरराष्ट्रीय अनुभव के आधार पर उनका मानना है कि बच्चों को आधुनिक पद्धति से पढ़ाना चाहिए और छात्रों को किताबी ज्ञान के साथ साथ चरित्र निर्माण और कौशल पर भी स्कूलों को काम करना होगा ताकि उनके जीवन की सफलता सुनिशचित हो सके।

स्कूल अपने एकेडमिक कार्यक्रम के हिस्से के रूप में लक्ष्य सेटिंग, लक्ष्य और समय प्रबंधन, योजना और अन्य कौशल सहित लाइफस्किल्स ट्रेनिंग के लिए विभिन्न अवसर प्रदान करता है। चरित्र के मूल्यों और निर्माण का एकीकरण प्रमुख महत्व दिया जाता है। सीआईएस हर बच्चे में- यूनिवर्सल वैल्यूज, वैश्विक समझ, सभी चीजों में उत्कृष्टता और दुनिया की सेवा में सफलता के चार खंभे विकसित करने का प्रयास करता है।

इसका लक्ष्य 21 वीं शताब्दी की रचनात्मकता और उनमें महत्वपूर्ण सोच विकसित करके बच्चों को शिक्षा प्रदान करना है। स्कूल का मिशन बच्चों को एकेडमिक रूप से मजबूत बनाना है, ताकि वे अपनी ताकत और कमजोरियों को समझने में स्वयं सक्षम हो। स्कूल हर बच्चे के आत्म सम्मान और आत्मविश्वास को प्रकट करने में मदद करता है।

सीआईएस की दृष्टि हर बच्चे को एक ऐसे व्यक्ति बनने के लिए प्रेरित करना है जिसे अन्य लोग मॉडल के रूप में देख सकें और बच्चों को इस तरह ट्रेंड किया जाता है ताकि वह हर परिस्थिति के लिए तैयार रहें। स्कॉलरशिप शुरू में एक वर्ष के लिए दी जाएगी। इसे जारी रखने के लिए छात्र का वार्षिक प्रदर्शन देखा जाएगा।
स्कॉलरशिप के लिए ऑनलाइन परीक्षाएं जुलाई 2020 के चौथे सप्ताह में आयोजित की जाएंगी। छात्र स्कूल की वेबसाइट ciseducation.org के माध्यम से आवेदन कर सकते हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button