उत्तर प्रदेशताज़ा ख़बररायबरेली

श्रावण मास का पर्व

रायबरेली- आज जहां सोमवार श्रावण मास का पहला दिन आरंभ हो गया है।जो पूरे एक महीने श्रद्धालु भगवान शिव की आराधना श्रद्धालु करेंगे।रायबरेली जिले के लालगंज क्षेत्र में स्थित बालेश्वर मंदिर में श्रद्धालु की भीड़ उमड़ रही है। लेकिन इस बार प्रशासन कोविड-19 के चलते कावड़ यात्रा न ले जाने के लिए श्रद्धालुओं से प्रशासन ने अपील की है। बालेश्वर मंदिर में श्रद्धालुओं को दर्शन करने के लिए प्रशासन ने कमर कस ली है ।और थर्मल स्कैनिंग करने के बाद ही भक्तों को मंदिर में प्रवेश दिया जाएगा। माना जाता है कि सोमवार भगवन शिव का दिन होता है। और इस बाद श्रावण का महीना सोमवार को ही प्रारंभ हो रहा है। ऐसे में इस बार श्रावण महीने का महत्व भी बढ़ जाता है। पुराणों और मान्यताओं के अनुसार सोमवार को भगवान शिव की आराधना करने से उनको भगवान शिव का आशीर्वाद मिलता है।श्रावण मास में सोमवार को इसका महत्व और भी ज्यादा हो जाता है। विद्वानों की माने तो श्रावण मास भगवान शिव का प्रिय महीना होता है । शिवभक्त इस पूरे महीने भगवान शिव के विग्रह और शिवलिंग पर जलाभिषेक , दुग्धाभिषेक के साथ ही धतूरा और बेलपत्र जैसे भगवान शिव को प्रिय पुष्प और फलों से पूजन करते है। वही कोरोना को देखते हुए बालेश्वर मंदिर के पुजारी ने मन्दिर के बजाए घर पर रहकर भगवान शिव की आराधना करने की अपील किया।
दरअसल सोमवार से श्रावण मास पर आने वाले श्रद्धालुओं के लिए दर्शन से पहले प्रशासन ने कोरोना को देखते हुए सोशल डिस्टेंसिग और सेनेटाइज भक्तों के लिए व्यवस्थाएं की गई हैं मंदिर में 5 -5 भक्तों को मंदिर में पूजा अर्चना की अनुमति दी जा रही है। कोरोना महामारी को देखते हुए मंदिर परिसर में स्वास्थ्य विभाग व पुलिसकर्मी भी तैनात किए गए हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button