उत्तर प्रदेशताज़ा ख़बरहरदोई

विधायक ने श्यामा प्रसाद मुखर्जी की जयंती पर श्रृद्धा सुमन अर्पित कर किया वृक्षारोपण

पाली, हरदोई। सवायजपुर विधायक माधबेन्द्र प्रताप सिंह रानू ने डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी की जयंती पर श्रृद्धा सुमन अर्पित किए एवं अपने बूथ पर वृक्षारोपण किया। सोमवार को सवायजपुर विधायक कुंवर माधवेंद्र प्रताप सिंह रानू, विधानसभा संयोजक धीरेंद्र प्रताप सिंह सेनानी, विधायक प्रतिनिधि रजनीश कुमार त्रिपाठी, जिलाप्रतिनिधि मदनपाल, मण्डल अध्यक्ष सवायजपुर कृष्णपाल आदि ने जनसंघ के संस्थापक डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी को उनकी जयंती पर श्रृद्धा सुमन अर्पित किए एवं अपने बूथ संख्या 186 पर वृक्षारोपण किया।

विधायक ने श्यामा प्रसाद मुखर्जी की जयंती पर उनके जीवन जीवन पर प्रकाश डालते हुए कहा कि डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी ने स्वेच्छा से आजादी की अलख जगाने के उद्देश्य से राजनीति में प्रवेश किया। डॉ. मुखर्जी सच्चे अर्थों में मानवता के उपासक और सिद्धान्तवादी थे। उन्होंने बहुत से गैर कांग्रेसी नेताओं की मदद से कृषक प्रजा पार्टी से मिलकर प्रगतिशील गठबन्धन का निर्माण किया। बंगाल की प्रान्तीय सरकार में वे वित्तमन्त्री बने। इसी समय वे राष्ट्रवाद के प्रति आकर्षित हुए और हिन्दू महासभा में सम्मिलित हुए।

1943 में बंगाल में पड़े अकाल के दौरान श्यामा प्रसाद का मानवतावादी पक्ष निखर कर सामने आया, जिसे बंगाल के लोग कभी भुला नहीं सकते। बंगाल पर आए संकट की ओर देश का ध्यान आकर्षित करने के लिए और अकाल−ग्रस्त लोगों के लिए व्यापक पैमाने पर राहत जुटाने के लिए उन्होंने प्रमुख राजनेताओं, व्यापारियों, समाजसेवी व्यक्तियों आदि को जरूरतमंद और पीड़ितों को राहत पहुंचाने के उपाय खोजने के लिए आमंत्रित किया।

फलस्वरूप बंगाल राहत समिति गठित की गई और हिन्दू महासभा राहत समिति भी बना दी गई। श्यामा प्रसाद मुखर्जी इन दोनों ही संगठनों के लिए प्रेरणा के स्रोत थे। लोगों से धन देने की उनकी अपील का देशभर में इतना अधिक प्रभाव पड़ा कि बड़ी−बड़ी राशियां इस प्रयोजनार्थ आनी शुरू हो गई। इस बात का श्रेय उन्हीं को जाता है कि पूरा देश एकजुट होकर राहत देने में लग गया और लाखों लोग मौत के मुंह में जाने से बच गए। विधायक ने सभी से उनके जीवन से प्रेरणा लेने को कहा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button