उत्तर प्रदेशलखनऊ

लखनऊ: बेटे के प्रेम-प्रसंग ने ली पिता की जान, प्रदर्शन कर कार्रवाई की उठी मांग

लखनऊ: गाजीपुर थाना क्षेत्र के इंदिरानगर के अमरपाली मार्किट में रविवार को बाहुबली साड़ीज व ज्वेलर्स की दुकान चला रहे लोगों ने एक अधेड़ की जान ले ली. बाहुबली साड़ीज के मालिक आलोक जैन ने अपने भाई व बेटों के साथ मिलकर नरेश कुमार गुप्ता की पिटाई कर मौत की नींद सुला दी. नरेश की मौत के बाद आक्रोशित परिजनों ने स्थानीय लोगों के साथ मिलकर आलोक जैन के घर का घेराव कर लिया. इसी बीच सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने मामले की गंभीरता को देखते हुए आक्रोशित लोगों को समझाने का प्रयास करते रहे, लेकिन आक्रोशित लोग पुलिस से आलोक जैन व उसके भाई समेत बेटों की गिरफ्तारी की मांग करते रहे. इस बीच प्रदर्शन को देखते हुए मौके पर कई थाना की पुलिस पहुंच गई. कई घंटे समझाने के बाद ही पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजने के साथ ही मृतक के परिजनों की ओर से तहरीर प्राप्त की. पुलिस मुकदमा दर्ज होने के साथ ही पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई करने का दावा कर रही है.

मिली जानकारी के मुताबिक गाजीपुर थाना क्षेत्र के इंदिरा नगर के अमरपाली मार्केट में बाहुबली साड़ीज व ज्वेलर्स के नाम से दुकान है. उस दुकान को आलोक जैन व उसका भाई विनय जैन चलाते हैं. इस दुकान के ठीक सामने नरेश कुमार गुप्ता चाय और पान मसाले की दुकान चलाते थे. रविवार को आलोक जैन ने चाय की दुकान पर निखिल को अकेला पाकर उसकी पिटाई कर दी. इसी बीच आलोक जैन ने निखिल को पकड़ कर अपने साड़ी के शोरूम में ले आया गया. इस दौरान निखिल की जमकर पिटाई की गई. इसी बीच निखिल के पिता नरेश कुमार गुप्ता आ गए. नरेश गुप्ता ने जब बीच-बचाव किया तो उसकी पिटाई भी शुरू कर दी.

मृतक के परिजनों का आरोप है निखिल और पिता नरेश गुप्ता की पिटाई करते हुए आलोक जैन ने निखिल के पिस्टल लगा दी. यह देख नरेश गुप्ता को हार्ट अटैक आ गया और बेहोश होकर जमीन पर गिर पड़ा. पिता के बेहोश होने की जानकारी निखिल ने अपने भाई को सूचित की. आनन-फानन में मौके पर पहुंचे परिजनों ने नरेश को शेखर हॉस्पिटल पहुंचाया. जहां पर डॉक्टरों ने नरेश को मृत घोषित कर दिया.

गाजीपुर इंस्पेक्टर अनिल कुमार सिंह ने बताया कि तो दोनों पक्षों में विवाद हुआ था. इस विवाद के बीच नरेश कुमार गुप्ता (55) की हार्ट अटैक से मौत हो गई. परिजनों की तहरीर के आधार आलोक जैन उसके भाई विनय जैन समेत 8 लोगों के खिलाफ नामजद एफआईआर दर्ज की जा रही है. उन्होंने कहा मृतक अपनी पत्नी व तीन बच्चों के साथ सेक्टर 22 में निवास करता था. इंस्पेक्टर ने बताया कि नरेश और आलोक जैन का पुराना विवाद चलता आ रहा है. उसी विवाद को लेकर यह झगड़ा हुआ था.

सूत्रों की मानें तो मृतक के बेटे और आरोपी पक्ष की बेटी के बीच लगभग 5 माह से प्रेम-प्रसंग चल रहा था. बेटी के प्रेम की बात जानने के बाद से आलोक अक्सर नरेश के बेटे से विवाद करता और धमकाता रहता था. आलोक ने कुछ दिन पहले भी नरेश व उसके बेटे निखिल की पिटाई की थी. गुरुवार को भी आलोक ने निखिल को दुकान पर अकेला पाकर पिटाई की. इस दौरान पिता ने पहुंचकर बीच-बचाव किया. जिसमें पिता नरेश की मौत हो गई. फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button