उत्तर प्रदेशताज़ा ख़बरलखनऊ

लखनऊ पहुंचा टिड्डी दल, भगाने के लिए पुलिस ने हूटर बजाते हुए निकाली बाइक रैली

लखनऊ। कोरोनावायरस के संक्रमण काल में उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ और इसके आसपास जिलों में टिड्डियों ने कहर बरपाना शुरू कर दिया गया है। करीब छह किलोमीटर लंबा टिड्डी दल उन्नाव के रास्ते लखनऊ में घुसा। करीब आधे घंटे मंडराने के बाद यह दल बाराबंकी की सीमा में प्रवेश कर गया। लोगों ने थाली-ताली बजाकर टिड्डियों को भगाया है। राजधानी में मैंगो बेल्ट काकोरी के अलावा अन्य क्षेत्रों में किसानों को अलर्ट रहने की हिदायत दी है। पुलिस ने टिड्डियों को भगाने के लिए हूटर बजाते हुए बाइक की रैली निकाली।

कानपुर-उन्नाव के रास्ते लखनऊ में प्रवेश करने वाले इस टिड्डी दल ने सबसे पहले मैंगों बेल्ट काकोरी के साथ ही बक्शी का तालाब में अपना डेरा जमाया। लोग घर की छतों के साथ खेत में शोर मचाने लगे। इसके बाद ठाकुरगंज होकर यह दल सीतापुर रोड क्षेत्र में घूम रहे हैं। शहर के बालागंज, त्रिवेणी नगर, अलीगंज, ठाकुरगंज तथा मुफ्तीगंज क्षेत्र में भी टिड्डियों ने प्रवेश किया। टिड्डियों का एक दल विकास नगर में भी पहुंचा। बड़ी संख्या में लोग तालियां बजाकर शोर मचा रहे थे।

टिड्डी के प्रकोप को रोकने के लिए कमिश्नरेट पुलिस ने कमर कसी है। एसीपी हजरतगंज अभय कुमार मिश्रा के निर्देश पर हजरतगंज पुलिस रविवार को बाइक से हूटर बजाते हुए सड़कों पर निकाली। उधर, लखनऊ के अलावा बाराबंकी, बहराइच, श्रावस्ती, बलरामपुर आदि तराई के जिलों में भी टिड्डियों ने हरी सब्जी के फसलों पर अपना कहर बरपाया है।

मुख्यमंत्री ने दिए रसायन छिड़काव के निर्देश

टिड्डी दलों के आतंक से प्रदेशवासियों को मुक्ति दिलाने हेतु उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रसायन के छिड़काव की मंजूरी दे दी है। जिससे उत्तर प्रदेश के किसानों की फसलों के लिए काल बन चुके टिड्डी दलों को रसायन की मदद से मारकर टिड्डीयो के आतंक को कम किया जा सके। बताते चलें कि पिछले कई दिनों से किसानों द्वारा खेतों में पुतलों को लगाकर अथवा बर्तन बजाकर टिड्डियों को खदेड़ा जा रहा था। बावजूद इसके टिड्डीयों का आतंक थमने का नाम नहीं ले रहा था जिसके बाद सूबे के मुखिया ने रसायन छिड़काव की मंजूरी प्रदान की।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button