उत्तर प्रदेशलखनऊ

राज्य सड़क निधि के अन्तर्गत विभिन्न जनपदों के 17 मार्गों के चालू कार्यों हेतु 27 करोड़ 49 लाख 40 हजार रुपये की अवशेष धनराशि की गयी अवमुक्त

लखनऊ। यूपी के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के निदेशों के क्रम में राज्य सड़क विकास निधि के अन्तर्गत विभिन्न जनपदों के 17 मार्गों के चालू कार्यों हेतु रू0 27 करोड़ 49 लाख 40 हजार की अवशेष धनराशि उ0प्र0 शासन द्वारा अवमुक्त की गयी है। इनमें जनपद प्रयागराज के 05 कार्य, जनपद प्रतापगढ़ के 05 कार्य, जनपद कौशाम्बी में 02 कार्य, जनपद वाराणसी में 01 कार्य एवं जनपद श्रावस्ती में 04 कार्य सम्मिलित हैं। इस सम्बन्ध में आवश्यक शासनादेश उ0प्र0 शासन लोक निर्माण अनुभाग-1 द्वारा जारी किया जा चुका है।

जनपद जालौन में बुन्देलखण्ड विकास निधि के अन्तर्गत ‘‘इंगुई खुर्द से सला घाट सम्पर्क मार्ग’’ के क्रियान्वयन हेतु रू0 01 करोड़ 98 लाख 55 हजार की धनराशि का आवंटन किया गया है। इस परियोजना के क्रियान्वयन हेतु रू0 04 करोड़ 96 लाख 39 हजार की प्रशासकीय एवं वित्तीय स्वीकृति शासन द्वारा दी गयी है। इस कार्य/परियोजना की कुल लम्बाई 6.80 किमी0 है। इस सम्बन्ध में आवश्यक शासनादेश लोक निर्माण अनुभाग-14 द्वारा जारी किया जा चुका है।

पूर्वांचल विकास निधि के अन्तर्गत जनपद अम्बेडकरनगर की ‘‘पियारेपुर अहरिया चैराहे से मुर्गीपुर रहीम पट्टी तक सम्पर्क मार्ग का निर्माण कार्य एवं 5 अद्द पुलिया 900 एम0एम0 ह्यूम पाईप सहित, 02 अद्द पुलिया 600 एम0एम0 ह्यूम पाईप सहित, 01 अद्द पुलिया 350 एम0एम0 ह्यूम पाईप सहित के क्रियान्वयन हेतु रू0 92 लाख 62 हजार की धनराशि शासन द्वारा आवंटित की गयी है। इस परियोजना के क्रियान्वयन हेतु रू0 2 करोड़ 98 लाख 87 हजार की प्रशासकीय एवं वित्तीय स्वीकृति शासन द्वारा दी गयी है। इस सम्बन्ध में आवश्यक शासनादेश लोक निर्माण अनुभाग-14 द्वारा जारी किया जा चुका है।

जारी शासनादेशों में निर्देशित किया गया है कि समस्त कार्य निर्धारित व अनुमोदित मानकों एवं विशिष्टियों के अनुरूप सम्पादित कराये जाय ताकि उच्च गुणवत्ता सुनिश्चित हो सके। आवंटित धनराशि का व्यय, वित्त विभाग द्वारा निर्गत आदेशों/ज्ञापों में उल्लिखित शर्तों के अनुसार बजट मैनुअल एवं वित्तीय हस्तपुस्तिका के नियमों तथा नियमावली में किये गये प्राविधानों का अनुपालन करते हुये किया जाय। उपमुख्यमंत्री ने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया है कि वह आवंटित धनराशि के व्यय के बारें में जारी दिशा-निर्देशों का अक्षरशः अनुपालन सुनिश्चित करें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button