उत्तर प्रदेशलखनऊ

यूपी में आईटीआई के 14536 अभ्यर्थियों को मिलेगी खास ट्रेनिंग

प्रदेश के प्रदेश के राजकीय व निजी औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों (आईटीआई) की 14356 सीटों पर प्रवेश पाने वाले अभ्यर्थियों को विशेष औद्योगिक प्रशिक्षण दिलाया जाएगा। इन सीटों पर प्रवेश दोहरी प्रशिक्षण व्यवस्था (डीएसटी) के तहत लिया जाएगा। आईटीआई में कुल लगभग 4.92 लाख सीटें हैं।

आईटीआई में मेरिट के आधार पर प्रवेश की आनलाइन प्रक्रिया चार अगस्त से शुरू हो चुकी है, जो 28 अगस्त तक चलेगी। इसमें 305 राजकीय और 2939 निजी आईटीआई शामिल हैं। प्रवेश के लिए न्यूनतम उम्र 14 वर्ष होनी चाहिए, जबकि अधिकतम उम्र की कोई सीमा तय नहीं है। प्रदेश के व्यावसायिक शिक्षा एवं कौशल विकास विभाग ने इन संस्थानों की 14356 सीटों पर डीएसटी के तहत प्रवेश देने की योजना बनाई है। इन सीटों पर प्रवेश पाने वाले सभी प्रशिक्षार्थी अपने पूरे प्रशिक्षण काल में तीन से 12 माह तक उद्योगों में काम करते हुए व्यावहारिक प्रशिक्षण प्राप्त करेंगे। कोर्स की अवधि के हिसाब से उद्योगों में प्रशिक्षण का समय तय किया जाएगा। इस योजना के तहत प्रशिक्षित होने वाले युवाओं को बेहतर रोजगार प्राप्त करने में सुविधा होगी। साथ ही साथ उद्योग भी अपनी जरूरत के अनुसार कामगार तैयार कर सकेंगे।

ज्यादा से ज्यादा युवाओं को औद्योगिक प्रशिक्षण के लिए प्रेरित करने के लिए विभाग ने ‘आईटीआई चलो अभियान’ भी शुरू किया है। इस अभियान के साथ डीएसटी योजना का भी प्रचार-प्रसार किया जा रहा है। यह अभियान इसलिए भी चलाया जा रहा है ताकि आईटीआई की ज्यादा से ज्यादा सीटें भर सकें। अकेले राजकीय आईटीआई में ही लगभग 1,20,575 सीटें हैं। इन सीटों पर मात्र 40 रुपये मासिक फीस ली जाती है। छात्रों को यह भी बताया जा रहा है कि हाईस्कूल उत्तीर्ण होकर आईटीआई कोर्स करने वाले युवा बाद में केवल एक विषय हिन्दी की पढ़ाई करके इंटरमीडिएट की डिग्री भी प्राप्त कर सकते हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button