उत्तर प्रदेशताज़ा ख़बरलखनऊ

मोबाइल व्यवसायी के बेटे का अपहरण, 30 घंटे गुजरने के बाद भी लखनऊ पुलिस के हाथ खाली

लखनऊ: राजधानी में अपराध कम नहीं हो रहे हैं. लखनऊ में सोमवार को एक व्यापारी के बेटे का बदमाशों ने अपहरण कर लिया. नहट इलाके के मल्हौर में यमुना विहार के पास सफारी सवार बदमाश, व्यापारी के बेटे का अपहरण करके अपने साथ ले गए. पीड़ित व्यवसायी रात तक थाने के चक्कर लगाता नजर आया. मामले के तूल पकड़ते देख सोमवार देर रात को पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया और आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है. पुलिस बदमाशों को पकड़ने के लिए जगह-जगह दबिश दे रही है.

मिली जानकारी के मुताबिक, चिनहट थाना क्षेत्र के यमुना विहार में सिराजुद्दीन अपने परिवार के साथ रहते हैं. घर से कुछ ही दूरी पर उन्होंने एक मोबाइल की दुकान खोल रखी है. दुकान सिराजुद्दीन का बेटा रियाजुद्दीन चलाता है. सिराजुद्दीन का कहना है कि सोमवार दोपहर सफेद रंग की एक सफारी गाड़ी से बदमाश उनके दुकान पर पहुंचे. कार में छह लोग सवार थे और कुछ लोग दुकान के अंदर गए. पिता का कहना है कि उन बदमाशों ने उनके बेटे को इशारा करके गाड़ी के पास बुलाया था. पिता का कहना है जैसे ही उनका बेटा सफारी के गेट के पास पहुंचा से तो बदमाशों ने जबरदस्ती खींचकर गाड़ी के अंदर बिठा लिया और वहां से फरार हो गए.

पिता का कहना है बेटे का मोबाइल भी तुरंत स्विच ऑफ कर दिया गया. उन्होंने तुरंत ही पुलिस को सूचना दी लेकिन पुलिस ने इस मामले का कोई कार्रवाई शुरू नहीं की. लेकिन जब अधिकारियों से शिकायत की गई तो उनकी तहरीर के आधार पर पुलिस ने सफारी सवार अज्ञात बदमाशों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया. इस मामले एसीपी विभूतिखंड अनूप कुमार सिंह की मानें तो देर रात सिराजुद्दीन ने अपने बेटे रियाजुद्दीन के अपहरण होने के मामले को लेकर शिकायती पत्र दिया था. सिराजुद्दीन के शिकायती पत्र के आधार पर मुकदमा दर्ज कर कार सवार बदमाशों की तलाश कर दी गई.

अनूप कुमार सिंह ने बताया कि पिता ने रियाजुद्दीन का जो मोबाइल नम्बर दिया है, उसकी काल डिटेल्स खंगाली गईं. इसमें चार से पांच नंबर मिले हैं. उन नंबरों को पुलिस ट्रेस कर बदमाशों तक पहुंचने का प्रयास कर रही है. इसके साथ ही एसीपी ने दावा किया कि बदमाशों को जल्द ही गिरफ्तार कर रियाजुद्दीन को ढूंढ लिया जाएगा. एसीपी का कहना है कि इस मामले में किसी तरह की रंजिश की बात से परिवार के लोग इनकार कर रहे हैं. किसी तरह की फिरौती या धमकी का भी कोई फोन नहीं आया है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button