उत्तर प्रदेशप्रयागराज

‘मुस्लिम भी अपना नेता चुने’ प्रयागराज में बंटवारे की राजनीति कर बोले ओवैसी-योगी-अखिलेश और कांग्रेस से डरने की जरूरत नहीं

यूपी विधानसभा चुनाव नजदीक आते ही असदुद्दीन ओवैसी ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है. वह किसी भी तरह से मुस्लिम वोट अपने हक में करने की जुगत में हैं. वह अब धर्म के आधार पर वोट मांग रहे है. आज प्रयागराज पहुंचे ओवैसी ने एक जनसभा को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने मुस्लिम वोटर्स को चेताते हुए कहा कि यादवों ने अखिलेश को, जाटवों ने मायावती को और ठाकुरों ने योगी को चुना. ओवैसी से मुस्लिमों से भी उनका नेता चुनने की बात कही.

प्रयागराज में ओवैसी ने अतीक अहमद को पार्टी में शामिल करने का जिक्र किया. AIMIM नेता ने कहा कि कानून की नजर में अतीक अहमद चुनाव लड़ सकते हैं. उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनाव में प्रयागराज की जनता के वोटों से अतीक अहमद जरूर जीत हासिल करेंगे. ओवैसी ने अतीक अहमद का बचाव करते हुए कहा कि बीजेपी ने मुजफ्फरनगर दंगों के आरोपियों के केस वापस ले लिए हैं. लेकिन मीडिया ने इसकी कोई चर्चा नहीं की

‘अब मुस्लिम भी चुने अपना नेता’

प्रयागराज जनसभा में ओवैसी ने नाथूराम गोडसे को आजाद भारत का पहला दहशतगर्त कहा. ओवैसी ने मुस्लिमों को अपने पक्ष में करते हुए कहा कि जिस समाज का नेता होता है, उसी की परेशानियां हल की जाती है. उन्होंने कहा कि देश की सियासत की हकीकत यही है. AIMIM नेता ने कहा कि ओवैसी आपको अपना हक दिलवाने के लिए ही यूपी में आए है.

इस दौरान ओवैसी ने यादव, जाटव और ठाकुरों द्वारा उनका नेता चुने जाने का जिक्र किया. उन्होंने मुस्लिमों से अपील की उनको भी अब अपना नेता चुन लेना चाहिए. ओवैसी ने कहा कि जाटव, मायावती को, यादव अखिलेश को अपना नेता मानते है. ठाकुर योगी को और ब्राह्मण मोदी जी को अपना नेता मानते हैं. लेकिन मुस्लिमों की अब तक कोई आवाज नहीं हैं.

‘यूपी में धर्मांतरण कानून गलत’

ओवैसी ने बांटने की राजनीति करते हुए कहा कि मुस्लिमों को ये याद रखना चाहिए कि उनका नेता कोई जमीन या आसमान ने निकलकर नहीं आएगा. उन्हें खुद अपने हालात बदलने पड़ेंगे. ओवैसी ने जनता से वादा करते हुए कहा कि जब तक वह जिंदा रहेंगे, तब तक यूपी में वह इंकलाब पैदा करेंगे. ओवैसी की पत्नी का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि वह चाहते हैं कि उनकी मां और बहनों की आंख से आंसू न निकलें. ओवैसी इस दौरान यूपी के नेताओं पर भी निशाना साधना नहीं भूले. उन्होंने कहा कि किसी को भी अखिलेश, योगी या कांग्रेस से डरने की जरूरत नहीं हैं. ओवैसी ने धर्मांतरण कानून को भी गलत ठहराया.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button