उत्तर प्रदेशलखनऊ

मिड डे मील के राशन में निकले कीड़े, कभी भी फैल सकती है बीमारी

यूपी के जहां एक तरफ योगी सरकार बच्चों के भविष्य संवारने के लाख दावे कर रही है। वहीं उनके ही जिम्मेदार अधिकारी कर्मचारी उनकी ही योजनाओं पर जमकर पलीता लगाते नजर आ रहे हैं। बच्चों के खाने में बनने वाले मिड डे मील के आटे में कीड़े निकले हैं। जैसे ही इस खबर का खुलासा हुआ विद्यालय परिसर में हलचल मच गई। स्कूल में बच्चों के स्वास्थ्य से खिलवाड़ किया जा रहा है। बच्चों खाने में इस्तेमाल किए जाने वाले आटे में कीड़े नजर आए।

बता दें कि जब मामले को स्कूल उपस्थित प्रधानाध्यापक और समस्त स्टाफ के सामने लाया गया तो सभी भौचक्का रह गए। जब मामले में प्रधानाध्यापक से बात करनी चाहिए तो वह इस बात को लेकर कोई जवाब नहीं दे सके। अब सोचने वाली बात यह है जिस आटे को खाकर बच्चे अपने भविष्य को संवारने की बात कर रहे हैं कहीं वह अपनी जान न गवा बैठे। क्योंकि जिस तरह से बच्चों को कीड़े वाला खिलाया जा रहा है उससे उनका स्वास्थ्य बिगड़ना लाजमी है।

इतना ही नहीं कोरोना के लंबे समय के बाद स्कूल खोले गए हैं। लेकिन स्कूलों में कोरोना गाइडलाइन का भी पालन नहीं हो रहा है। विद्यालय में न तो शिक्षक मास्क और सैनिटाइजर के साथ थे ना ही बच्चों के चेहरे पर मास्क था। साथ ही विद्यालय की कक्षाओं में सोशल डिस्टेंस की भी जमकर धज्जियां उड़ाई जा रही थी। वहीं मौके पर पहुंचे ग्राम प्रधान ने रसोइयों को समझाते हुए कहा कि आप लोग 50 ग्राम दूध में 50 ग्राम पानी डालकर बच्चे को देती हैं जो बहुत ही गलत काम है।

स्कूलों के लेकर इस तरह के कई मामले पहले भी सामने आते रहे हैं और अब भी आ रहे हैं। लेकिन प्रशासन इस तरह की घटनाओं पर आंख मूंदे रहता है। और कोई कार्रवाई नहीं करता। स्कूल बच्चों के स्वस्थ्य के साथ ऐसे ही खिलवाड़ करते रहते हैं। बच्चों के भविष्य और स्वास्थ्य को लेकर सरकार तो दावे बड़े-बड़े करती है। लेकिन इस तरह की घटनाएं सरकार के दावे को हर बार घोघला साबित कर देती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button