उत्तर प्रदेशताज़ा ख़बरलखनऊ

महिलाओं ने अखिलेश को राखी बांध सपा सरकार बनाने का लिया संकल्प

लखनऊ। रक्षाबंधन के पर्व पर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को सैकड़ों महिलाओं ने रखी बांधी। इस दौरान राजपुरोहित पंडित हरि प्रसाद मिश्रा ने भी मंत्रोच्चार करने के बाद रक्षासूत्र बांधा और अखिलेश यादव को दोबारा सीएम बनने का आशीर्वाद दिया। प्रदेश भर से आई महिलाओं का कार्यकर्ताओं ने अखिलेश यादव को राखी बांधकर सरकार बनाने का संकल्प दोहराया। इस दौरान सपा की सरकार के दौरान महिलाओं के लिए किए गए कार्यों के प्रति अखिलेश यादव का आभार भी जताया।

इस मौके पर अखिलेश यादव ने कहा कि हम हमेशा महिलाओं को सुरक्षा और सम्मान देने के पक्षधर रहे हैं। हमारी सरकार के दौरान सबने देखा भी है। उन्होंने इस मौके पर यह भी कहा कि समाजवादी पार्टी में महिलाओं को बराबर की भागीदारी सुनिश्चित की जाएगी। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में महिलाओं की भागीदारी को बढ़ाने के लिए सड़क से सदन तक सपा ने संघर्ष किया है। आगे भी वो अपने लक्ष्यों से डिगेंगे नहीं।

अखिलेश यादव ने कार्यकर्ताओं से अपील की कि आपसी तालमेल बनाकर 2022 में सपा की सरकार बनाने के लिए जुट जाएं। उन्होंने आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी मतदाताओं को भ्रमित करने की साजिशों में जुटी हुई है। ऐसे में कार्यकर्ताओं की सजगता बहुत जरूरी है।

सपा मुखिया ने कहा कि भाजपा ने जनता के हित में अभी तक कोई काम नहीं किया है। ऐसे में जनता बेहद नाराज है। लेकिन, भाजपा अपनी आदतों के अनुसार एक बार फिर जनता को धोखा देने की रणनीति तैयार कर रही है। उन्होंने कहा कि भाजपा विकास के मुद्दे पर चुप हो जाती है। भाजपा का एजेंडा ही विकास विरोधी है।

अखिलेश ने कहा कि भाजपा की सरकार में अपहरण सरेआम हो रहा है। बलात्कार और हत्या तो मानों प्रदेश की पहचान बन चुके हैं। महिलाओं का जीना दूभर हो चुका है। उन्होंने कहा कि महिला हिंसा के मामले में यूपी टॉप पर है। यह बीजेपी की सरकार की वजह से हैं। उन्होंने कहा कि सरेराह बेटियों के साथ छेड़खानी के मामले सामने आ रहे हैं। लेकिन सरकार ने आंखें बंद कर लीं हैं।

पूर्व सीएम ने कहा कि रक्षाबंधन के दिन भी विचलति करने वाली दुष्कर्म की घटनाएं हुईं हैं। यह किसी भी सरकार के लिए शर्मसार करने वाली घटना है। उन्होंने घटनाओं को गिनाते हुए कहा कि प्रतापगढ़ में किशोरी का अपहरण कर सामूहिक बलात्कार किया गया। शाहजहांपुर, रामपुर, बांदा आदि कई जिलों में ऐसी घटनाएं सामने आईं हैं।

उन्होंने कहा कि सरकार मिशन शक्ति चला रही है, लेकिन महिलाएं रौंदी जा रहीं हैं। खुद सीएम योगी के गृहजनपद गोरखपुर में अपराध चरम पर है। वहां पर हत्या, लूट, अपहरण की घटनाएं आम होती जा रहीं हैं। महिलाओं और बेटियों के साथ इस तरह के अन्याय अब तक नहीं हुए हैं, जैसा भाजपा सरकार में हो रहा है।

सपा सरकार के कार्यों को गिनाते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि महिला उत्पीड़न पर रोक लगाने के लिए वीमेन पावर हेल्पलाइन 1090 की स्थापना की गई थी। लेकिन, भाजपा सरकार में इसे भी ध्वस्त कर अपनी महिला विरोधी छवि को उजागर किया है। महिलाओं की सुरक्षा कागजों पर हो रही है। वास्तविक परिस्थतियां पूरी तरह उलट हैं। उन्होंने कहा कि बीजेपी को सबक सिखाने के लिए प्रदेश की महिलाएं तैयार बैठी हैं। अपने स्वाभिमान और मान-सम्मान के लिए महिलाएं सपा की सरकार बनाने को बेताब हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button