उत्तर प्रदेशताज़ा ख़बरसुलतानपुर

महामारी में सावन के पहले सोमवार को शिवालयों में उमड़ी शिव भक्‍तों की भीड़

भूपेंद्र सिंह


  • अबकी बार पहले सोमवार को बाबा बैजनाथ धाम जलाभिषेक को नही निकला जिले से हजारों कावड़ियों का जत्था, निराश हुए कावड़िए।

सुलतानपुर। कोरोना जैसी वैश्विक महामारी में भी सावन माह के पहले सोमवार को शिवालयों में भक्तों की खासी भीड़ उमड़ी।मंदिरो, शिवालयों में हर-हर महादेव के उद्घोष के बीच श्रद्धालुओं ने शिवलिंग पर जलाभिषेक कर सुख-समृद्धि की कामना की। मंदिरों में सुबह से ही श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रही। श्रद्धालुओं ने शिवालयों में गंगाजल, दूध, दही से जलाभिषेक कर बेलपत्र, चावल व पुष्प से भगवान शिव की पूजा अर्चना की।प्राचीन मंदिर में जलाभिषेक को लेकर सुबह से श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी।

जयसिंहपुर तहसील क्षेत्र के मोतिगरपुर भवम भवानी धाम पर एक दिन पहले से ही मंदिर के रंग रोगन की तैयारियां शुरू हो गयी थी।वैश्विक महामारी के दौर में भी सावन के सोमवार को पहले दिन ज्योतिर्लिंग, मंदिरों में शिव भक्तों की भीड़ रही।वही जयसिंहपुर प्राचीन शिवमंदिर पर स्थानीय कस्बावासियों के साथ साथ क्षेत्र के अन्य गांवों से आने वाले शिव भक्त कावड़ियों ने सागर में स्नान और पूजन के साथ जलाभिषेक किया। सोमवार की भोर से ही महिला शिवभक्तों का मंदिरों व शिवालयों पर आना शुरू हो गया।

शिवालयों में हर हर महादेव, बोल बम,भोले शंकर के जयकारों से गूंजती रही है। मंदिरों, शिवालयों में घंटे घड़ियाल की आवाज सुनाई देती रही है। भोले की भक्ति में लीन होकर शिव भक्त बोल बम, हर हर, बम बम भोले के जयकारे लगाते रहे। जयसिंहपुर कस्बे में स्थिर प्राचीन शिव मंदिर, सेवतरी गांव स्थित बाबा जहली दास धाम, भेवतरी गांव में स्थित प्राचीन शिवालय, भवम भवानी धाम समेत दर्जनों स्थानों पर स्थित मंदिरों,शिवालयों में हर हर महादेव की गूंज रही।

वैश्विक महामारी में नही निकली कावड़ यात्रा

जयसिंहपुर क्षेत्र के अलावा समूचे जिले से हजारो की संख्या में प्रतिवर्ष शिव भक्तों कावड़ियों की टोली गाजे बाजे के साथ डीजे की धुनों पर थिरकते हुए दशकों से बाबा बैजनाथ धाम पर दर्शन व जलाभिषेक के लिए रवाना होती रही है। वही इस वर्ष कोविड-19 कोरोना वायरस वैश्विक महामारी में लागू लाकडाउन में संक्रमण के खतरे को देखते हुए शासन स्तर से कावड़ यात्रा रद्द हो जाने से कावड़िये को निराश किया है। जिसका नतीजा यह रहा बिगत वर्षो की भाँति इस वर्ष सावन के पहले सोमवार को क्षेत्र के मंदिरों, शिवालयों में भक्तों की भीड़ कम रही।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button