उत्तर प्रदेशताज़ा ख़बरलखनऊ

भाजपा-कांग्रेस की कुनीतियों से भुखमरी के कगार पर किसान और मजदूर : अखिलेश

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन में किसान-मजदूर-नौजवानों का सबसे अधिक योगदान रहा है। देश की 75 वर्ष की आजादी में भाजपा-कांग्रेस की कुनीतियों के कारण किसान-मजदूर भुखमरी के कगार पर पहुंच गए हैं। सपा 29 अगस्त से पटेल यात्रा शुरू करने जा रही है। अखिलेश ने बुधवार को जारी एक बयान में कहा कि लौह पुरुष सरदार बल्लभ भाई पटेल द्वारा छेड़े गए खेड़ा के किसान आंदोलन, बारदोली के किसान आंदोलन, चंपारन का किसान आंदोलन, नुनारा फतेहपुर सहित किसानों द्वारा छेड़ा गया लगान विरोधी आंदोलन और रायबरेली में 1921 में किसानों के बलिदान जैसे अनेकों उदाहरण है।

भारत की आजादी के लिए किसानों द्वारा किए गए संघर्ष व बलिदान को भुलाया नहीं जा सकता है। देश में सबसे ज्यादा परिश्रमी, ईमानदार, हमारे किसान-मजदूर-बुनकर भाई हैं, लेकिन भाजपा सरकार किसान-मजदूर, बुनकर, कुटीर उद्योग का धंधे करने वाले किसानों का शोषण-उत्पीड़न कर रही है। लगातार बढ़ती मंहगाई से किसान-मजदूर-नौजवान, बुनकर सबसे ज्यादा गरीब हो गए हैं।

समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल ने कहा कि किसान-मजदूर-बुनकर-नौजवानों का कल्याण समाजवादी विचारधारा में ही संभव है। भाजपा की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ उत्तर प्रदेश के विभिन्न जिलों में ‘खेत, खलिहान, कुटीर, उद्योग बचाओ, रोजगार दो’ ‘किसान, नौजवान, पटेल यात्रा’ सात चरणों में होगी।

पहले चरण में सपा प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल के नेतृत्व में 29 अगस्त को महमूदाबाद सीतापुर से शुरू होगी, 30 अगस्त को बहराइच, 31 अगस्त को श्रावस्ती, 1 सितंबर को बलरामपुर, 2 सितंबर को गोंडा होते हुए 3 सितंबर को फैजाबाद में किसान नौजवान पटेल यात्रा पहुंचेगी। दूसरे चरण में 8 सितंबर को बस्ती, 9 सितंबर सिद्धार्थनगर, 10 सितंबर महराजगंज, 11 सितंबर गोरखपुर और 14 सितंबर को संतकबीरनगर पहुंचेगी।

तीसरे चरण की यात्रा 17 सितंबर को बाराबंकी से शुरू होकर 18 सितंबर अंबेडकरनगर, 19 सितंबर सुल्तानपुर, 20 सितंबर अमेठी, 21 सितंबर प्रतापगढ़, 22 सितंबर रायबरेली, और 23 सितंबर को लखनऊ पहुंचेगी। चौथे चरण में 27 सितंबर को उन्नाव, 28 सितंबर को फर्रुखाबाद, 29 सितंबर को कन्नौज व 30 सितंबर को कानपुर देहात पहुंचेगी।

पांचवे चरण में यात्रा 2 अक्तूबर फतेहपुर, 3 अक्तूबर कौशांबी, 4 अक्तूबर प्रयागराज, 5 अक्तूबर चित्रकूट, 6 अक्तूबर बांदा, 7 अक्तूबर महोबा, 8 अक्तूबर झांसी, 9 अक्तूबर ललितपुर और 10 अक्तूबर को जालौन पहुंचेगी। छठे चरण में यात्रा 17 अक्तूबर हरदोई, 18 अक्तूबर शाहजहांपुर, 19 अक्तूबर बरेली, 20 अक्तूबर बदायूं, 21 अक्तूबर पीलीभीत और 22 अक्तूबर लखीमपुर खीरी में पहुंचेगी। किसान नौजवान पटेल यात्रा का अंतिम व सातवां चरण 25 अक्तूबर मऊ से शुरू होकर, 26 अक्तूबर आजमगढ़, 27 अक्तूबर जौनपुर, 28 प्रयागराज, 29 अक्तूबर वाराणसी, 30 अक्तूबर मिर्जापुर के उपरांत 31 अक्तूबर को इलाहाबाद में इस यात्रा का समापन होगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button