उत्तर प्रदेशबदायूं

भगत सिंह का किरदार निभाते वक्त 9 साल के शिवम ने गले में डाला फांसी का फंदा, और फिर…

यूपी के बदायूं जिले में कुछ बच्चे 15 अगस्त के कार्यक्रम की तैयारी कर रहे थे. बच्चों में कोई शहीद भगत सिंह बना था तो कोई सुखदेव और राजगुरु. इन क्रांतिकारी वीरों का किरदार निभाते हुए एक ऐसी दुखदायी घटना हो गई जिसके बाद एक घर में मातम पसर गया है. दरअसल, भगत सिंह का किरदार निभा रहा 9 साल का मासूम गले में फांसी का फंदा डाले स्टूल पर खड़ा हो गया था. तभी अचानक स्टूल से बच्चे का पैर फिसल गया और फंदा लगने से उसकी मौत हो गई. इस घटना के बाद मासूम के माता-पिता की मानो दुनिया ही उजड़ गई. परिजनों ने अपने लाल का पोस्टमार्टम कराए बिना ही उसका अंतिम संस्कार कर दिया. दिल दहला देने वाला ये मामला कुंवरगांव थाना क्षेत्र के बावट गांव का है. 9 साल का शिवम अपने दोस्तों क साथ 15 अगस्त को लेकर तैयारी कर रहा था. उसके माता-पिता खेतों में काम से गए थे. शिवम भगत सिंह का रोल प्ले कर रहा था जबकि उसके दोस्त राजगुरु और सुखदेव का.
पुलिस को नहीं दी सूचना
इसी दौरान शिवम स्टूल के सहारे खड़ा हो गया और एक फंदा बनाकर अपने गले में डाल दिया. तभी अचानक स्टूल पर से उसका पैर फिसल गया और वह रस्सी में लटक गया, जिसके बाद साथ खेल रहे बच्चे घबरा गए और वहां से भाग गए. कुछ देर बाद जब शिवम की मां आरती घर वापस आई तो उसकी चीखें निकल गई. शिवम की मां और मोहल्ले वासियों ने खेत पर काम कर रहे उसके पिता को बुलाया और फांसी के फंदे से नीचे उतारा. परिजनों ने बिना पुलिस को सूचना करे बच्चे का अंतिम संस्कार कर दिया. इस घटना के बाद परिजनों में मातम छाया हुआ है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button