उत्तर प्रदेशहरदोई

बाढ की सम्भावना को लेकर जिला प्रशासन मुस्तैद, जनहानि व पशु हानि नहीं होने देंगे: डीएम

बिलग्राम (हरदोई)। क्षेत्र के राजघाट गंगा तट के आसपास सैकड़ों गांवो को हमेशा से ही बाढ़ की विभीषिका का कहर झेलना पड़ता है। जिसमें प्रशासन से लेकर स्थानीय ग्रामीणों को काफी कीमत भी चुकानी पड़ती है। जिसके बाद उन्हें भुखमरी की कगार पर वर्षो अपना जीवन खानाबदोशी के साथ व्यतीत करना एक मजबूरी बन जाती है। लेकिन इस बार जिले के तेजतर्रार जिलाधिकारी पुलकित खरे ने बाढ़ की विभीषिका से संघर्ष करने की स्वयं अपने हाथों में कमान संभाली है। उसीक्रम में गुरुवार को राजघाट के कटरी बिछुईया क्षेत्र में जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक ने बाढ़ प्रभावित क्षेत्र का जायजा लिया।ग्रामीणों को हरसंभव मदद का आश्वासन दिया।

गुरुवार को राजघाट पर डीएम पुल्कित खरे, पुलिस अधीक्षक अमित कुमार गुप्ता क्षेत्राधिकारी एस आर कुशवाहा, उपजिलाधिकारी कपिल देव यादव, नायब तहसीलदार नितिन राजपूत, कोतवाल अमरजीत सिंह, नमामि गंगे के संयोजक अशोक सिंह ने मौके पर कई ग्राम प्रधानों के साथ बैठक कर बाढ़ प्रभावित क्षेत्र का हाल जाना। इसके बाद जिलाधिकारी ने बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया। मौके पर मौजूद प्रधान दुकानदार व अन्य उपस्थित ग्रामीणों ने बताया कि गंगा में तेज बारिश के चलते काश्तकारों भूमि जलमग्न हो जाते हैं। साथ ही दर्जनों पेड़ भी गंगा में समा जाते हैं। इस दौरान जिला नहर विभाग द्वारा डीएम को बताया गया कि उनके कर्मचारियों ने कटान प्रभावित क्षेत्रों में युद्धस्तर पर कार्य जारी हैं। जिन्हें एक दो दिन में सम्पूर्ण कर लिया जाएगा। वहीं बाढ़ चौकियों को स्थापित करने के साथ ही आपातस्थिति में स्कूलों में भी विस्थापित कार्य किया जाएगा। जबकि इस बार किसी भी हाल में जनहानि व पशुहानि न हो।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button