उत्तर प्रदेशलखनऊ

निर्माण कार्यों में मितव्ययता, गुणवत्ता, समयबद्धता व पारदर्शिता का किया जाए अनुपालन: केशव प्रसाद मौर्य

लखनऊ। यूपी के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने राजकीय निर्माण निगम के अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि निर्माण कार्यों में मितव्ययता, गुणवत्ता, समयबद्धता व पारदर्शिता का अनुपालन अपनी साख के अनुरूप किया जाय तथा निर्माणाधीन कार्यों में कोविड-19 के दृष्टिगत प्रोटोकाॅल का अनुपालन भी हर हाॅल में सुनिश्चित किया जाय।

मौर्य ने बताया चालू वित्तीय वर्ष में प्रदेश के अन्दर 45 विभागों के 1441 कार्य प्रगति में हैं तथा अन्य प्रदेशों में भी 494 कार्य कराये जा रहे हैं। चालू वित्तीय वर्ष में रू0 4500 करोड़ के कार्यों का सम्पादन करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। उन्होने कार्यों में अपेक्षित प्रगति लाने के निर्देश दिये हैं। राजकीय निर्माण निगम में मुख्यालय स्तर पर एक केन्द्रीय प्रयोगशाला भी स्थापित की जा चुकी है, जिसके द्वारा समय-समय पर औचक निरीक्षण कर सैम्पल टेस्टिंग कार्य कराया जायेगा। उन्होने आधुनिक पर्यवेक्षण प्रणाली के माध्यम से मुख्यालय द्वारा प्रभावी समीक्षा व अनुश्रवण किये जाने के निर्देश दिए हैं। वर्तमान में ई-टेण्डरिंग/ई-प्रोक्योरमेन्ट व्यवस्था द्वारा निर्माण कार्यों का सम्पादन कराया जा रहा है।

गौरतलब है कि यूपी राजकीय निर्माण निगम की कुशल प्रशासनिक व्यवस्था हेतु इसे 20 कार्यकारी अंचलों में विभाजित किया गया है, जिसके अन्तर्गत 102 कार्यकारी इकाईयां कार्यरत हैं। मुख्यालय पर तकनीकी एवं वित्तीय समन्वय हेतु वास्तुविदीय विंग, परिकल्पना विंग, वित्त एवं लेखा विंग, वाणिज्य विंग, संविदा विंग, कार्मिक विंग, यांत्रिक विंग एवं विद्युत विंग स्थापित है। प्रत्येक विंग का संचालन महाप्रबन्धक स्तर के अधिकारी द्वारा किया जाता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button