उत्तर प्रदेशताज़ा ख़बरसुलतानपुर

दवा सप्लाई में जीवन रक्षक शामिल है या नहीं मुझे याद नहींः स्वास्थ्य मंत्री

सुलतानपुरः सरकारी अस्पतालों में जीवन रक्षक दवाएं उपलब्ध नहीं होने के सवाल पर उत्तर प्रदेश के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह ने कहा कि दवाई तो सभी अस्पतालों को भेजी जाती हैं. उसमें जीवन रक्षक शामिल है या नहीं, यह मैं नहीं बता सकता हूं. लगातार सुलतापुर और प्रतापगढ़ जिले में हो रही बड़ी लूट की घटनाओं पर प्रभारी मंत्री ने बचाव करते हुए कहा कि इससे कानून व्यवस्था पर प्रभाव नहीं पड़ता है.

मंत्री ने वैवाहिक जोड़ों पर बरसाए फूल

चिकित्सा स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह के साथ जिलाधिकारी रवीश गुप्ता और पुलिस अधीक्षक डॉ. अरविंद चतुर्वेदी के साथ मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह कार्यक्रम में शामिल हुए. कार्यक्रम में शामिल 151 वैवाहिक जोड़ों को आशीर्वाद देते हुए उन्होंने फूल बरसाए. इस दौरान नगर पालिका चेयरमैन बबीता जायसवाल और सभासदों ने भी पुष्प वर्षा की.

टूट रहे वैवाहिक जोड़े, आप निभाएं साथ

जिले के प्रभारी मंत्री जयप्रकाश सिंह ने कहा कि सामूहिक विवाह कार्यक्रम में 151 वर-वधू शामिल हुए हैं. इसमें तीन मुस्लिम जोड़े शामिल हैं. सभी को हमारी तरफ से आशीर्वाद और सहयोग दिया गया है. हमारी अपेक्षा है कि यह सभी जोड़े वैवाहिक जीवन में सफल हों. इन दिनों शादी टूटने की घटनाएं बढ़ रही हैं. हमारी अपेक्षा है कि मिलजुलकर वैवाहिक जीवन यह जोड़े निभाएंगे.
सरकारी अस्पतालों में जीवन रक्षक दवाएं नहीं होने के सवाल पर स्वास्थ्य मंत्री बोले, 297 प्रकार की दवाएं जिला अस्पतालों में सप्लाई की जाती हैं. इसमें जीवन रक्षक दवाएं शामिल है या नहीं, यह हमें याद नहीं है. सुलतानपुर प्रतापगढ़ में लूट की बढ़ रही घटनाओं पर प्रभारी मंत्री ने पुलिस का पक्ष लिया. कहा कि इससे कानून व्यवस्था पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है. यदि समय पर राज खुल जाए तो अपराध करने वालों को एक बड़ी नसीहत मिलती है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button