उत्तर प्रदेशलखनऊ

दवा-पूजा और तंत्र मंत्र के लिए होती है सांपों की तस्करी, इंस्टाग्राम से तलाशे जाते हैं ग्राहक

राजधानी लखनऊ में पुलिस और वन विभाग की टीम ने एक किशोर को पकड़कर उसके पास से करोड़ों रुपए कीमत के 8 दुर्लभ प्रजाति के सांप बरामद किए हैं. किशोर इंस्टाग्राम से सांपों की तस्करी करता था. वन विभाग के अधिकारियों का कहना है कि सांपों का उपयोग यौन शक्ति की दवाएं बनाने के अलावा पूजा-पाठ और तंत्र मंत्र में किया जाता है.
एडीसीपी पश्चिम राजेश कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि किशोर अपने इंस्टाग्राम पर दुर्लभ सांपों की तस्वीरें अपलोड करके ग्राहक ढूंढता था. वन विभाग की टीम को इसकी जानकारी मिली तो उन्होंने पुलिस को सूचना दी. पुलिस ने ग्राहक बनकर किशोर से इंस्टाग्राम पर संपर्क किया और उससे सांप खरीदने के लिए बातचीत की. उसे ठाकुरगंज इलाके में बुलाया गया. किशोर दुर्लभ प्रजाति के 8 सांप लेकर आया तभी उसे दबोच लिया गया. किशोर ने स्कूटर की डिग्गी में दो रेड स्नेक बोआ, दो सेंड स्नेक बोआ, घोड़ापछाड़ और अजगर सांप छिपाकर रखे थे.
पुलिस ने सांपों को जंगल में छुड़वा दिया है
पूछताछ में उसने बताया कि दुर्लभ प्रजाति के सांप उसे बुद्धेश्वर मंदिर के पास कोई बाबा देकर जाता है. वह अपनी इंस्टाग्राम प्रोफाइल पर सांपों की तस्वीरें पोस्ट कर देता है. वहीं से मुंबई और दक्षिण भारत के तमाम लोग उससे संपर्क करते हैं और सांप खरीदने के लिए रकम का तयतोड़ होता है. पुलिस का कहना है कि बरामद सांपों की अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमत दो से तीन करोड़ रुपए बताई जा रही है.
एडीसीपी पश्चिम ने बताया कि किशोर के पास से भारतीय वन्य जीव संरक्षण अधिनियम के शेड्यूल 2, 3 व 4 के अंतर्गत दुर्लभ प्रजाति के सांप बरामद किए गए हैं. यह सांप प्रतिबंधित वन्यजीव की श्रेणी में आते हैं. इन्हें पकड़ने या मारने पर 7 साल तक की सजा का प्रावधान है. एडीसीपी का कहना है कि आरोपी नाबालिग है इसलिए उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज करके उसे जमानत पर रिहा कर दिया गया है. पुलिस ने सांपों को जंगल में छुड़वा दिया है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button