उत्तर प्रदेशताज़ा ख़बरहरदोई

थाने पर न हुई कार्यवाही तो एसपी से गुहार लगाई फिर भी नहीं हुई कार्यवाही

  • काशिमपुर पुलिस की लापरवाही या भरी जेब। आखिर क्यों नहीं होरही कार्यवाही

पिहानी/हरदोई। छेत्र के ग्राम नेदुरा निवासी बुद्धा खां पुत्र मम्मन खां ने आरोप लगाया है। कि मेरा लड़का सरूक जेल में बंद था।साथ में गावँ का ही बब्बे पुत्र अंसार भी जेल इन था। सरूक की जमानत के लिए दर दर भटक रहा था। तो इस्लाम निवासी सरसंडा की रिश्तेदारी गांव में ही है वाह निदुरा आया हुआ था। उसने कहा रुपया लेकर हमारे गांव आ जाना हम जमानत करवा देंगे पीड़ित लालच में सर संड पहुंच गया इस्लाम को जमानत कराने के लिए ₹34500 ते हुए पैसा भी इस्लाम के दरवाजे पर ही दिया गया लेकिन करीब 4 महीने तक जमानत नहीं करा पाए, और ना ही किसी को पैसा दिया जमानत का लालच देकर पैसे को हजम कर गया।

जब पैसा मांगा गया तो उल्टा गाली गलौज किया कई प्रकार के आरोप भी लगने लगे, इससे तंग आकर पीड़ित ने थाना कासिमपुर जाकर तहरीर दी कोई सुनवाई नहीं हुई उसके बाद पुलिस अधीक्षक हरदोई के द्वार पहुंचा तहरीर दी विवेचना कर रहे दरोगा आलोक सिंह थाना कासिमपुर ने फोन कर पीड़ित को बुलाया उसके बाद इस्लाम को भी बुलाया गया। इस्लाम ने पैसा लेने की बात दरोगा आलोक सिंह के समक्ष स्वीकार की कि हां हमने पैसा लिया है। उसके बाद आश्वासन दिया गया कि आपका पैसा जल्द ही मिल जाएगा कुछ दिन के बाद फोन द्वारा दरोगा आलोक सिंह से बात की गई तो उन्होंने कहा यह मामला हमारे बस का नहीं है। हम इस पर कोई कार्यवाही नहीं कर सकते इससे साफ जाहिर होता है। कि साहब की जेब गर्म हो चुकी है। अब कोई कार्यवाही होने वाली नहीं पीड़ित न्याय के लिए दर-दर अभी भी भटक रहा है। कोई अधिकारी सुनने वाला नहीं ना ही कोई कार्यवाही हो रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button