उत्तर प्रदेशमहराजगंज

तालिबानियों के चंगुल में फंसा महराजगंज का जंग बहादुर, परिजनों ने पीएम-सीएम से लगाई वतन वापसी की गुहार

महराजगंजः रोजी-रोटी की तलाश में अफगानिस्तान के काबुल में गया उत्तर प्रदेश का रहने वाला जंग बहादुर वहां तालिबानियों के चंगुल में फंस गया है। जिसके बाद यूपी के महराजगंज में रहने वाले उसके परिजनों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से वतन वापसी की गुहार लगाई है। उनका कहना है कि तालिबानी लड़ाकों की क्रूरता और असुरक्षा से आज पूरी दुनिया आतंकित है, ऐसे में जंग बहादुर की जान को खतरा है। इसलिए उन्हें वापस अपने घर लाया जाए।

निजी कंपनी कार्यरत था जंग बहादुर

दरअसल, महराजगंज के श्यामदेउरवा थाना क्षेत्र का रहने वाला जंग बहादुर काबुल में बीते 5 साल से काम कर रहा है। वह एक निजी कंपनी में रहकर खाना बनाने का काम करता है। दो साल पहले बड़ी बेटी की शादी में जंग बहादुर घर आया था, शादी के बाद फिर से वह काम पर लौट गया। इस बार वह दशहरे में घर आने की बात कह रहा था। लेकिन होनी को कुछ और ही मंजूर था। उसके आने से ठीक पहले समूचे अफगानिस्तान पर तालिबान का कब्जा हो गया और लाखों लोगों की जान पर आफत आ गई।

6 बेटियों का इकलौता सहारा

जंगबहादुर अपने परिवार की रोजी-रोटी कमाने वाले इकलौते शख्स हैं, घर पर 6 बेटियां और उनकी पत्नी रहती हैं। उनकी बेटी मनीषा ने बताया कि मेरे पिता तालिबान के कब्जे के बाद लगातार हमसे संपर्क में हैं। बीते मंगलवार की शाम 5 बजे मेरे पिता से फोन पर बात हुई थी। वो काफी घबराए हुए थे, उन्होंने पिछले 5 दिनों से खाना नहीं खाया है।

पीएम और सीएम से लगाई गुहार

जंग बहादुर की वतन वापसी के लिए उनकी बेटी और पत्नी ने प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री से मदद की गुहार लगाई है। गांव के प्रधान का कहना है कि उनके गांव का एक युवक अफगानिस्तान में फंसा है। वह लगातार परिवार की मदद में जुटे हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button