उत्तर प्रदेशताज़ा ख़बरलखनऊ

जांच के दायरे में आए यूपी पुलिस के एडिशनल एसपी, जल्‍द पूछताछ करेगी प्रयागराज पुलिस

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष और निरंजनी अखाड़ा के सचिव महंत नरेंद्र गिरि की खुदकुशी केस से जुड़ी बड़ी खबर सामने आई है. सूत्रों के मुताबिक, यूपी पुलिस के एडिशनल एसपी ओपी पांडे केस की जांच के दायरे में आ गए हैं. प्रयागराज पुलिस ओपी पांडे से जल्‍द पूछताछ करेगी.एडिशनल एसपी ओपी पांडे के साथ ही सपा नेता इंदु प्रकाश मिश्रा और बीजेपी नेता सुशील मिश्रा से भी पुलिस पूछताछ करेगी. इसके अलावा महंत नरेंद्र गिरि और आनंद गिरि के रिश्तो के बारे में पुलिस छानबीन करेगी. पुलिस यह भी पता लगाने की कोशिश करेगी कि जब इन तीन लोगों ने लखनऊ में समझौता कराया था तो फिर विवाद आगे क्यों बरकरार रहा.

सपा नेता इंदु प्रकाश मिश्रा और बीजेपी नेता सुशील मिश्रा भी थे महंत के करीबी

पुलिस के मुताबिक, ओपी पांडेय ने ही मई महीने में महंत नरेंद्र गिरि और आनंद गिरी के बीच मध्यस्थता कराई थी. एडिशनल एसपी ओपी पांडे दोनों संतो के बेहद करीबियों में गिने जाते थे. ओ पी पांडे मध्यस्थता के वक्त मुरादाबाद पीएसी में तैनात थे. मध्यस्थता कराने वालों में समाजवादी पार्टी के रसूखदार नेता इंदु प्रकाश मिश्रा और बीजेपी नेता सुशील मिश्रा भी शामिल थे. यह दोनों भी महंत नरेंद्र गिरि के बेहद करीबी माने जाते थे. इंदु प्रकाश मिश्रा को अखिलेश यादव के कार्यकाल के दौरान मंत्री का दर्जा प्राप्त था. सुशील मिश्रा पहले बहुजन समाज पार्टी में थे और साल 2016 में बीजेपी में शामिल हुए थे.

पूछताछ के लिए एडिशनल एसपी ओपी पांडे को प्रयागराज बुला सकती पुलिस

एडिशनल एसपी ओपी पांडे को पुलिस गुरुवार को प्रयागराज बुला सकती है. वहीं पुलिस सपा और बीजेपी नेता के बयान कल दर्ज कर सकती है. पुलिस का कहना है कि जांच में यह भी पता लगाने की कोशिश की जाएगी कि गुरु चेले के बीच विवाद के पीछे साजिश रचे जाने की जो बात सामने आई थी आखिरकार वह क्या है. माना जा रहा है कि इन तीनों लोगों के बयान के आधार पर पुलिस को कई अहम सुराग मिल सकते हैं.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button