अमेठीउत्तर प्रदेश

कोविड काल में CHC अमेठी की सराहनीय प्रयास ।

कोरोना महामारी महामारी के दौरान एक तरफ जहां जिले की तमाम सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अंतर्गत आने वाले गांव से लगातार शिकायतें प्राप्त हो रही है की वहां पर अभी तक स्वास्थ्य विभाग की टीमें नहीं पहुंच पा रही है लोगों की कोरोना सहित अन्य बीमारियों से लगातार मृत्यु हो रही है । वहीं पर अमेठी तहसील के कस्बे में स्थापित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के अंतर्गत आने किसी गांव के द्वारा अभी तक शिकायत नहीं दर्ज कराई गई है।

सीएचसी अमेठी में तैनात डॉक्टरों एवं स्वास्थ्य कर्मियों के द्वारा लगातार सराहनीय प्रयास किया जा रहा है । जिसके तहत यहां पर गठित आरआरटी टीम के द्वारा गांव गांव तक पहुंच कर लोगों को स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराई जा रही है । जिसमें लोगों की आरटीपीसीआर के द्वारा कोरोनावायरस की जांच करना तथा जांच के दौरान लक्षणों वाले मरीजों को दवाओं की किट उपलब्ध कराना शामिल रहता है। इसी के साथ साथ अमेठी रेलवे स्टेशन पर प्रतिदिन आने वाली ट्रेनों तथा रोडवेज बस स्टैंड पर बसों से उतरने वाली यात्रियों की संपूर्ण जाचों का जिम्मा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अमेठी का ही रहता है जिसका वह बखूबी निर्वहन कर रहा है। यही नहीं जब जैसे ही किसी गांव से कोरोना महामारी से मृत्यु की सूचना प्राप्त होती है। तत्काल सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अमेठी की मोबाइल टीम एंबुलेंस लेकर संबंधित के घर पहुंच जाती है और उनके घर परिवार आसपास के लोगों का कोरोना टेस्ट करती है। ऐसे ही कल बियसिया के रहने वाले कॉलर सूरज शुक्ला के द्वारा जिले के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ आशुतोष दुबे को फोन पर सूचना दी गई कि हमारे गांव के 6 घरों में लोगों की आकस्मिक मृत्यु हो गई थी। किसी के साथ सरैया दुबान गांव के कॉलर दिनेश प्रधान के द्वारा फोन से बताया गया था कि एक ही घर से अलग-अलग दिन 3 लोगों की मृत्यु हो चुकी है जिस पर तत्काल सीएमओ के निर्देश पर चिकित्सा अधीक्षक डॉ सौरभ सिंह द्वारा डॉ विवेक सिंह के नेतृत्व में लैब टेक्नीशियन अनिल सिंह तथा स्वास्थ्य कर्मी सीरत जहां और साधना पांडेय को भेजकर गांव में कैंप लगाकर लोगों की कोरोना की rt-pcr जांच हेतु 36 लोगों का सैंपल लिया गया । इसी के साथ लक्षण वाले व्यक्तियों को 10 दिनों की दवाओं का पैकेट वितरित किया गया । ऐसे ही सरैया दुबान गांव में पहुंचकर 07 लोगों का सैंपल लिया गया तथा सिम्टमैटिक मरीजों को दवाइयां दी गई । गाँव और भी जितने लोग थे जिनको किसी प्रकार की समस्या थी उनकी समस्याओं को नोट कर उचित सलाह एवं दवाइयां प्रदान की गई।

वहीं पर ग्रामीण राजेश मिश्रा ने बताया कि इस कोरोना काल में कम संसाधन और बहुत ही कम स्टाफ के साथ बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया करा रही है अमेठी सीएचसी । हम वहां के डॉक्टर स्वास्थ्य कर्मियों को धन्यवाद देना चाहते हैं कि ऐसी विषम परिस्थिति में बहुत ही उम्दा काम कर रहे हैं । शायद ही कोई सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र यहां तक कि जिला अस्पताल में भी यह सुविधा उपलब्ध हो । इसके लिए यहां के कर्मचारियों को बहुत-बहुत धन्यवाद एवं साधुवाद है । हमारे मोहल्ले में भी कोरोना से संक्रमित मरीज है । यहां पर उनकी टीम आई जांच किया और सभी को दवाओं को की किट उपलब्ध कराया है तथा फोन से भी उनकी स्थिति का पता करते रहते हैं।

 

Related Articles

Back to top button