उत्तर प्रदेशताज़ा ख़बरलखनऊ

कोरोना की लड़ाई के बीच बढ़ा HIV का खतरा, बरेली में 2 महीने में मिले 89 पॉजिटिव मरीज

उत्तर प्रदेश (uttar pradesh) फिलहाल कोरोना (covid-19) से लड़ाई लड़ रहा है. इस बीच एक और बीमारी ने स्वास्थ्य विभाग में खलबली मचा दी है. प्रदेश के बरेली (bareli) में बीते दो महीने में 89 एचआईवी पॉजिटिव (HIV positive) पाए गए हैं. गैर सरकारी संगठनों के साथ स्वास्थ्य विभाग ने ट्रेसिंग अभियान चलाकर इनको चिह्नित कर लिया है, लेकिन इतने HIV पॉजिटिव मरीज मिलने के बाद स्वास्थय विभाग हैरान है. क्योंकि दो महीने जुलाई और अगस्त के बीच ही HIV के इतने मामले मिल गए हैं जो अब तक के रिकॉर्ड में सबसे ज्यादा है.

वहीं 2020 अप्रैल की अगर बात करें तो इस महीने में ट्रेसिंग अभियान में बरेली में HIV पॉजिटिव के 22 केस मिले थे. जिसके बाद जून तक कोई केस नहीं मिला था. कोरोना के केस कम होने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने गैर सरकारी संगठनों के साथ HIV पॉजिटिव मरीजों की ट्रेसिंग शुरू कर दी, लेकिन अब जब चौंकाने वाली स्थिति सामने आई है तो स्वास्थ्य विभाग की चिंता बढ़ गई है.

80 प्रतिशत मरीज शराब की लत के कारण हुए पॉजिटिव

गाइडलाइन के मुताबिक, HIV पॉजिटिव के नाम सार्वजनिक नहीं किया जा सकता, लेकिन बरेली में एआर सेंटर की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक, हाल में मिले 89 एचआईवी पॉजिटिव मरीजों में 80 प्रतिशत मरीज ड्रग एडिक्ट हैं. ये सभी मरीज नशे की लत के कारण पॉजिटिव हुए हैं. अब स्वास्थ्य विभाग सभी नए पॉजिटिव मामलों की निगरानी और उपचार में लग गया है.

नए HIV पॉजिटिव केस विभाग के लिए मुसीबत

स्वास्थ्य विभाग के अफसरों का कहना है कि बरेली में एचआईवी मामलों की ट्रेसिंग का अभियान जारी है. विभाग की टीम लगातार संदिग्धों की जांच कर रही है. वहीं, इस बीच कोरोना की तीसरी लहर की आशंका से उसकी भी तैयारी में स्वास्थ्य विभाग तेजी से जुटा हुआ है. ऐसे में, नए एचआईवी पॉजिटिव केस उसके लिए नई मुसीबत बनकर सामने आए हैं.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button