उत्तर प्रदेशकानपुर

काबुल से 50 किलोमीटर दूर फंसी यूपी की बेटी, शादी के बाद गई तो फिर लौट न सकी, परिवार वालों ने सरकार से लगाई बचाने की गुहार

अफगानिस्तान में फंसे देश के लोगों को निकालने में सरकार लगी हुई है. कानपुर की एक बेटी हिना भी अफगानिस्तान में फंसी हुई है. हिना और उसके बच्चों ने मैसेंजर के जरिये खुद को बचाने की गुहार लगाई है. हिना ने अपील की है कि तालिबान की गोलियों से बच गयी तो मैं और मेरे बच्चे यहां भूख से मर जायेंगे.

अफगानिस्तान की राजधानी काबुल से 50 किमी दूर जुरमत में फंसी कानपुर की हिना की कहानी दर्द भरी है. वॉइस मैसेंजर के जरिये भेजे गए मैसेज सुनकर किसी की भी आंखे नम हो जाए. हिना ने मैसेनजर पर बताया कि तालिबानी राज के बाद यहां के हालात खराब हो गए हैं. यहां कोई घर से नहीं निकलता है. जब खाना बांटने लोग आते हैं तब ही निकलने की इजाजत होती है. बाकी तालिबानी असलहों के साथ हर घर की पहरेदारी करते हैं. हिना ने अपने दर्द को बयां करते हुए कहा, कि अगर तालिबानियों से वो बच भी गयी तो भूख से वो और उसके बच्चे मर जायेंगे.

कानपुर की रहने वाली हिना साल 2009 में मुंबई अपने चाचा के यहां रहने गई थी. जहां 2012 में नूर मोहम्मद नाम के शख्श से उसने लव मैरिज कर ली थी. 2013 में हिना अपने पति नूर मोहम्मद के साथ कानपुर आयी थीं. नूर मुंबई में ही रहकर ब्याज पर पैसे का लेन देन करता था. निकाह के बाद पता चला वो अफगानिस्तान का रहने वाला है और 2013 में ही नूर मोहम्मद हिना को जबरन धमका कर अपने साथ अफगनिस्तान ले गया. जहां से खुद काम के सिलसिले में मुंबई आता रहा.

नूर के परिवार वालों ने की मारपीट

हिना की मां समीरुन्निशा ने बताया कि 2018 के बाद नूर और उसके परिवार वालों ने हिना के साथ मारपीट शुरू कर दी. 28 अगस्त को हिना ने कानपुर अपने घर पर फोन करके बताया कि उसकी जान को खतरा है. उसे यहां से निकाल लो. 28 अगस्त को मुंबई में रह रहे हिना के पति नूर मोहम्मद ने भी हिना की मां से फोन पर बात कर धमकी दी कि पैसों का इंतजाम कर लो और अपनी बेटी को ले आओ. तबसे हिना की माँ का रो-रो कर बुरा हाल है. कानपुर पुलिस को इसकी जानकारी दी गयी है.

बहन की वतन वापसी के लिए भाई ने की पीएम से अपील

कानपुर पुलिस ने मुंबई में रह रहे हिना के पति नूर मोहम्मद उर्फ गनी तक पहुंचने के लिए पुलिस से संपर्क किया है. हिना की वतन वापसी के लिए विदेश मंत्रालय को भी मेल किया गया है. हिना अभी काबुल से 50 किलोमीटर दूर जुरमत नामक जगह पर रह रही है. हिना की मां समीरुन्निशा और उसके भाई सोनू ने पीएम मोदी से अपील की है कि उसकी बहन को वापस लाने में उनकी मदद करें. टीवी पर तालिबान के अत्याचार की खबरों से वो लोग डरे हुए है उनकी बेटी भी सदमे में है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button