अमेठीउत्तर प्रदेशताज़ा ख़बर

अमेठी जिले में अभी तक मिल चुके हैं डेंगू के 3 मरीज

मुख्य सचिव उत्तर प्रदेश शासन के निर्देश पर जिले में कोविड संवेदीकरण, बुखार पीड़ित व्यक्तियों कोविड टीकाकरण से छूटे हुए व्यक्तियों तथा कोविड-19 एवं क्षय रोग के लक्षण युक्त व्यक्तियों, नियमित टीकाकरण से छूटे बच्चों तथा 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग वाले लोगों में कोविड- वैक्सीन की पहली खुराक ना लेने वालों व्यक्तियों के चिन्हीकरण तथा सूचीबद्ध किए जाने हेतु विशेष महा अभियान आगामी 7 सितंबर से 16 सितंबर तक आयोजित किया जाएगा। यह अभियान 10 दिनों तक चलेगा जिसमें 2 सदस्सीय आशा बहू की टीम घर-घर तक जाएगी । जिले में कुल 593 टीमों के द्वारा सभी घरों को कवर किया जाएगा । इन टीमों का सुपरविजन करने के लिए 119 पर्यवेक्षकों की टीम भी लगाई गई है।

इसमें आशा बहू की टीम के द्वारा सभी प्रकार के बुखार वाले रोगियों को सूचीबद्ध किया जाएगा। जबकि कोविड-19 मरीजों को अलग से सूची बद्ध करने की योजना है। क्षय रोग के लक्षण वाले व्यक्तियों को भी सूचीबद्ध किया जाएगा। इसी के साथ 0 से 2 वर्ष तक के वे बच्चे जो नियमित टीकाकरण से छूटे हैं उन सभी की एक सूची बनाई जाएगी। 45 वर्ष से अधिक के हुए सभी लोग जिनको कोविड-19 की पहली खुराक नहीं मिल सकी है। ऐसे लोगों का भी चिन्हीकरण करण किया जाएगा। जिससे उन सभी व्यक्तियों को कोविड-19 की पहली खुराक दी जा सक। इस अभियान के दौरान यदि किसी घर में S.A.R.I.का रोगी मिलता है तो उस रोगी का पल्स ऑक्सीमीटर से जांच की जाएगी तथा उसकी सूचना पर्यवेक्षक के द्वारा नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र प्रभारी को प्रदान की जाएगी।

सूचना पर स्वास्थ्य केंद्र प्रभारी तत्काल एंबुलेंस भेज कर रोगी को अस्पताल बुलवाकर डेडिकेट क्वॉरेंटाइन यूनिट में भर्ती कराएगा। इसके अतिरिक्त इस महा अभियान में संचारी रोग से बचाने हेतु सोर्स रिडक्शन की कार्यवाही के अंतर्गत प्रत्येक घर में कूलर गमले एवं गमले के नीचे रखी प्लेट तथा पशु पक्षियों के पानी पीने का पात्र छत पर कबाड़ पुराने टायर फ्रिज के पीछे की ट्रे, टूटे बर्तन में जल जमाव की स्थिति का विनष्टीकरण तथा कोविड-19 के संक्रमण के खतरों से बचाव के तरीकों के विषय में जागरूकता फैलाने हेतु व्यापक प्रचार-प्रसार किए जाने की योजना है।

सूचीबद्ध किए गए बुखार से पीड़ित व्यक्तियों की मलेरिया की स्लाइड बनाई जाएगी और डेंगू की जांच की जाएगी इसी के साथ कोविड-19 के लक्षण युक्त व्यक्तियों की सैंपलिंग भी कराई जाएगी। क्षय रोग के लक्षण वाले व्यक्तियों के बलगम की जांच स्वास्थ्य विभाग करेगा 0 से 2 वर्ष तक के नियमित टीकाकरण से छूटे बच्चों को अभियान चलाकर टीकाकरण किया जाएगा, 45 वर्ष से अधिक उम्र के वे लोग जिनको अभी तक कोविड-19 की के वैक्सीन की पहली डोज नहीं प्राप्त हो सकी है । ऐसे सभी व्यक्तियों को कोविड-19 की प्रथम डोज दिलाई जाएगी। इस दौरान सीएमओ डॉ आशुतोष दुबे ने बताया कि जिले में अभी तक कुल 3 डेंगू के मरीज मिले थे जिनका उपचार किया गया और वह पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर जा चुके हैं । वर्तमान समय में अमेठी जनपद में डेंगू का एक भी मरीज नहीं है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button