अमेठीउत्तर प्रदेश

अमेठी के सँकरे नाले में गिरा गोवंश, प्रशासन की सक्रियता से रेस्क्यू कर जीवित निकाला गया बाहर।

उत्तर प्रदेश सरकार का गाय एवं गोवंशों से प्रेम किसी से छुपा नहीं है यह जगजाहिर है । लेकिन इसके बावजूद वही गाय और गोवंश आवारा पशु के रूप में इधर-उधर विचरण करते नजर आते हैं । एक तरफ जहां पर यह किसानों के लिए मुसीबत बने हुए हैं तो वहीं दूसरी तरफ दिन हो या रात सड़क पर घूमते हुए यह आवारा पशु सड़क हादसों का कारण भी बनते हैं । कभी-कभी तो यही आवारा पशु बुरे फंस जाते हैं जिसकी कल्पना की नहीं की जा सकती है । ऐसा ही एक मामला अमेठी कोतवाली क्षेत्र अंतर्गत प्रतापगढ़ रोड स्थित एसडीएम कॉलोनी मोड़ पर देखने को मिला । जहां पर देर रात एक आवारा घूम रहे गोवंश सड़क के किनारे बने नाले में गिर गया । हालांकि गिरते हुए उसे किसी ने नहीं देखा एक तरफ से गिरने के बाद वह किसी तरह से निकलने का प्रयास रात में ही करने लगा लेकिन वह निकल नहीं पाया । ऊपर से नाला बंद होने के चलते वह खिसकते खिसकते काफी दूर पहुंच गया । ऐसे में अंदर ही अंदर वह तड़फ़ड़ा रहा था तभी स्थानीय लोगों को आवाज आई और जब उन्होंने नाले के ऊपर से पटरा हटाकर देखा तो वह दंग रह गए । वहां पर घायल अवस्था में गोवंश दिखाई पड़ा । सबसे बड़ी बात तो यह है कि इस नाले की चौड़ाई मात्र 2 फीट है और गहराई लगभग 4 फीट और ऊपर से छत भी पड़ी हुई है। किंतु साफ सफाई के लिए जगह जगह पर थोड़ा सा खोला गया है । जिसके चलते इसमें से गोवंश को बचाना बड़ी चुनौती का कार्य बन गया था। फिलहाल तुरंत इसकी सूचना आनन-फानन में एसडीएम अमेठी महात्मा सिंह को दी गई । एसडीएम साहब ने तत्काल संज्ञान लेते हुए अधिशासी अधिकारी नगर पंचायत को रेस्क्यू करने का निर्देश दिया जिस पर अधिशासी अधिकारी हरिगेंद्र प्रताप सिंह ने नगर पंचायत अमेठी के कर्मचारियों को रस्सा तथा जेसीबी मशीन के साथ मौके पर भेजा तब तक डायल 112 की टीम भी मौके पर पहुंच चुकी थी । स्थानीय लोगों की मदद से कड़ी मशक्कत के बाद गोवंश को जिंदा बाहर निकाला गया इस तरह से कहीं ना कहीं उत्तर प्रदेश सरकार के गो एवं गोवंश प्रेम का ही नतीजा है कि तत्काल अधिकारियों ने संज्ञान लेते हुए गोवंश की जान बचा ली।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button